उन्होंने बताया कि ग्रामीणों व छात्रों को स्कूल रैली, स्कूल कैबिनेट व ग्रुप बैठकों द्वारा जल की सीमित होती मात्रा बारे जानकारी देते हुए बताया गया कि आज हमारे पास इस धरती पर मीठा व शुद्ध जल 3 फीसद से भी कम उपलब्ध है। उसमें से भी लगभग दो-तिहाई पानी की मात्रा तक हमारी पहुंच नहीं है। इसलिए इसको बचाने के लिए सबको अपने-अपने स्तर पर जमीनी प्रयास करने होंगे। उन्होंने बताया कि गांव मंगालिया में कुल 268 घरों का सर्वे टीम द्वारा किया गया जिनमें से 102 घरों में पानी के कनेक्शन मौके पर ही वैध किए गए जिससे सरकार को 51 हजार रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है और 39 नलों पर टोंटी लगाई गई।

संस्कृत के क्षेत्र में अनंत संभावनाएं लेकर आई

जागरणसंवाददाता,हरिद्वार:सातदिवसीयसंस्कृतमहोत्सवकेचौथेदिननईशिक्षानीतिमेंसंस्कृतकास्थानविषयपरपरिसंवादऔरकविसम्मेलनकाआयोजनकि

संस्कृत का संवर्धन हर भारतवासी का कर्तव्य: भु

जागरणसंवाददाता,हरिद्वार:विद्याभारतीकेप्रांतीयसंगठनमंत्रीभुवनचंद्रनेकहाकिसंस्कृतभाषाहमारीसंस्कृतिकीधरोहरहै,इसकासंवर्धनप्र

तीसरी आंख की नजर में होगी संस्कृत बोर्ड की पर

जासं,आजमगढ़:माध्यमिकसंस्कृतबोर्डकेविद्यालयोंकीपरीक्षाभीइसबारसीसीटीवीकैमरोंकीनिगरानीमेंहोगी।जिलास्तरपरमानीटरिगकरनेकेलिएके

Lucknow University: लेक्चर के टापिक में संस्क

लखनऊ,जागरणसंवाददाता।लखनऊविश्वविद्यालयकेअंग्रेजीविभागकीओरसेगुरुवारकोहोनेवालेव्याख्यानकेटापिककेनाममेंसंस्कृतकोमृतबतानेकोले