जयपुर, दो जनवरी (भाषा) राजस्थान में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के किशोरों के लिए सोमवार से टीकाकरण आरंभ होगा। चिकित्सा विभाग ने टीकाकरण के लिए पूरी तैयारी कर ली है। राज्य भर में कुल 3456 सरकारी चिकित्सा संस्थानों में टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा कि कोरोना वायरस रोधी टीका ही इस महामारी में सबसे कारगर उपाय साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि बच्चों का टीकाकरण और बड़ों का कोविड अनुरूप व्यवहार से बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है। मीणा ने सभी जिला कलेक्टरों का इसके लिए आह्वान भी किया कि वे मुख्य भूमिका का निर्वहन करते हुए सभी जन प्रतिनिधियों, गैर सरकारी संस्थाओं (एनजीओ) से सहयोग लेकर प्राथमिकता से टीकाकरण कार्य करवायें। चिकित्सा विभाग के प्रमुख शासन सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि राज्य में 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष तक के लाभार्थियों का कोविड-19 रोधी टीकाकरण प्रारम्भ किया जा रहा है। गालरिया ने बताया की प्रदेश में 10 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों, अग्रिम मोर्चे के कर्मियों एवं अन्य बीमारियों से पीड़ित 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को टीके की ऐहतियाती खुराक देना शुरू किया जायेगा। उन्होंने बताया कि राज्य में अनुमानित लाभार्थियों की संख्या लगभग 53.15 लाख है। उन्होंने बताया की वर्तमान में कोवैक्सीन टीका ही लगाया जा रहा है।

सेक्स प्रोडक्ट बेचकर ये 5 महिलाएं बनीं करोड़प

नईदिल्ली,24सितंबर।भारतमेंसेक्सयाउससेसंबंधितबीमारियोंकेबारेमेंजाननेकेलिएयुवाओंकोगूगलकासहारालेनापड़ताहै।लोगक्याकहेंगे,इसडर