Category Hierarchy

संवादसहयोगी,स्वारघाट:बिलासपुरजिलामेंट्रैक्टरकेमाध्यमसेट्रैक्टरकेमाध्यमसेबिजाईकरनेकेदामनिश्चितनहोनेकेकारणकिसानोंकोपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै।ट्रैक्टरसंचालकोंनेअपनीमर्जीसेदामबढ़ादिएहैं।पहलेयहदामजहांएकघंटेकेमात्र650रुपयेवसूलकिएजातेथेतोअबइसेबढ़ाकरसाढे़सातसौरुपयेसेलेकरआठसौरुपयेकरदियाहै।हैरानीकीबातहैकिएकतरफसरकारकिसानोंकीआयकोदोगुणाकरनेकेदावेकरतीहैलेकिनवहींदूसरीकिसानोंकोट्रैक्टरचालकोंकीमनमानीकाशिकारपड़रहाहै।ऐसेमेंसबसेअधिकपरेशानीउनकिसानोंकोउठानीपड़रहीहैजोपूरीतरहट्रैक्टरपरहीनिर्भरहैंक्योंकिकिसानोंकोखेतबुआईकेहीहजारोंरुपयेदेनेपड़रहेहैं।ऐसेमेंउनकीजेबपरबिनाकिसीकीरोकटोककेकैंचीचलाईजारहीहै।आमतौरपरज्यादातंबोल,टाली,जगातखानापंचायतोंकेसाथअन्यक्षेत्रोंकेकिसानखेतोंकीबीजाईवबुआईट्रैक्टरकेमाध्यमसेकरतेहैं।तंबोलवटालीपंचायतकेकिसानरामदयालसिंह,किशोरीलाल,रामलोक,श्रीराम,दयालसिंह,मीराठाकुर,प्रवीनकुमार,वकरनैलसिंहसहितदर्जनोंकिसानोंकाकहनाहैकिप्रशासनबिलासपुरजिलामेंजमीनबुआईकेरेटतयनहोनेकेकारणयहट्रैक्टरचालकमनमर्जीकरकेकिसानोंसेआठसौरुपयेवसूलरहेहैं।किसानोकायहभीकहनाहैकिउनकेखेतोंमेंइतनीफसलनहीहोतीजितनेपैसेट्रैक्टरमालिकबुआईकेदामवसूलकरलेतेहैं।इसीकारणबहुतसेकिसानोंनेअपनीभूमिकोबंजरबनादियाहै।किसानोकाकहनाहैकिप्रशासननेजमीनबहाईका650रुपयेप्रतिघंटाथालेकिनअबधीरेधीरेअबयह800रुपयेप्रतिघंटाहोगयाहै।वहींकृषिउपनिदेशककुलदीपपटियालकाकहनाहैकिक्षेत्रमेंट्रैक्टरकेद्वाराखेतबुआईकेदामनिश्चितनहींकिएगएहैं।