Category Hierarchy

संवादसहयोगी,सोलन:देशमेंपौधोंकेरोगोंकोसीमितरखनेकेलिएभारतकोएकघरेलूसंगरोधप्रणालीस्थापितकरनेकीआवश्यकताहै।वहीं,किसानोंकीसमस्याएंहलकरनेकेलिएसोशलमीडियाकाप्रयोगभीबेहतरतरीकेसेकियाजाए।

यहबातडॉ.यशवंतसिंहपरमारऔद्यानिकीऔरवानिकीविश्वविद्यालयनौणीमेंसंयंत्ररोगप्रबंधनमेंजैवतर्कसंगतदृष्टिकोणविषयपरआधारितराष्ट्रीयसंगोष्ठीमेंविशेषज्ञोंनेकही।इसकेअलावाफसलबीजनेऔरकाटनेकेदौरानहोनेवालीहानिकोकमकरनेकेलिएभीअनेकसुझावदिएगए।इससंगोष्ठीकाआयोजनविविकेप्लाटपैथोलॉजीविभागद्वाराकियागया।भारतीयकृषिअनुसंधानपरिषद(आइसीएआर)केउपमहानिदेशक(बागवानी)डॉ.एकेसिंहइसकार्यक्रममेंमुख्यअतिथिरहे।उन्होंनेकिसानोंकोसहीकीटनाशकअनुप्रयोगप्रौद्योगिकीकेबारेमेंशिक्षितकरनेकीआवश्यकतापरबलदिया।वैज्ञानिकोंसेकिसानोंकीसमस्याओंकेसमाधानकेलिएवाट्सएपऔरमोबाइलमैसेजिंगएपकाप्रभावीउपयोगकरनेकाआग्रहकिया।आइसीएआरकेएडीजी(प्लाटप्रोटेक्शन)डॉ.पीकेचक्रवर्तीनेरोगजनकोंकेप्रसारकोकमकरनेकेलिएखेतोंमेंजैवसुरक्षाकीआवश्यकतापरजोरदिया।खेतोंमेंएकहीप्रवेशऔरनिकासहोनाचाहिए।खेतोंमेंप्रवेशकरनेसेपहलेऔरबाहरजानेपरजूतेऔरसभीउपकरणकोजीवाणुरहितबनानाचाहिए।उनकेअनुसाररोगोंकासमयपरपतालगानेकेलिएप्रभावीउपकरणविकसितकरनेकीजरूरतहै,ताकिकीटनाशकोंकाउपयोगकमकियाजासके।डॉ.चक्रवर्तीनेदेशमेंउत्पादनकेनुकसानसेसंबंधिततथ्योंकोसाझाकिया।बतायाकिदेशमें30प्रतिशतसेअधिकसंभावितउपजकीटनाशकऔरबीमारियोंकेकारणनष्टहोजातीहैऔरअगरइससमस्यासेनिपटाजासकेतोहमअपनेमौजूदाउत्पादनमें70लाखटनकीवृद्धिकरसकतेहैं।यूरोपीयदेशोंकोनिर्यातकिएजानेवालाभारतीयबासमतीचावलकाहवालादेतेहुएवैज्ञानिकोंनेनएकवकनाशीऔरउपयोगकेसमयमेंबदलावकेसुझावदिए।इसमौकेपररोगोंकेप्रबंधनकेलिएवनस्पतिऔरजैवकीटनाशकोंकेउपयोगपरभीचर्चाकी।इसदौरानदेशकेविभिन्नहिस्सोंकेवैज्ञानिकऔरछात्रोंनेपादपरोगप्रबंधनकीपर्यावरणमित्रवतप्रौद्योगिकीऔरअंतिमउपयोगकर्ताकोप्रसारकेलिएरणनीतियोंपरचर्चाकी।

इसमौकेपरभारतीयप्लाटपैथोलॉजिस्टसोसायटीनेचारजिलोंकेकिसानोंकोसम्मानितकिया।बेस्टथेसिसका11000रुपयेकापुरस्कारनौणीविविकीपूर्वछात्राडॉ.अदितिशर्माकोमिला।बेस्टपोस्टरकीप्रतियोगितामें160लोगोंनेभागलिया।अर्जुनचौहाननेइसमेंपहलास्थानहासिलकिया।