Category Hierarchy

सुभाषडागर,बल्लभगढ़:हरीसब्जियोंकेदामजमीनपरहैं।पिछलेवर्षकेमुकाबलेइसबारकिसानोंकोतीनगुनाभावकममिलरहेहैं।कईकिसानोंनेतोअपनीसब्जीकीफसलकीजुताईकरदीहै।पंजीकरणनकरानेकेकारणकिसानोंकोभावांतरयोजनाकाभीलाभनहींमिलाहै।दामकमहोनेकीवजहआवकभरपूर,परलॉकडाउनकेचलतेमांगमेंकमीहोनाबताईजारहीहै।

अनलॉक-1शुरूहोनेपरभीअभीहोटल-रेस्टोरेंटपूरीतरहसेनहींखुलेहैं।शादी-ब्याहभीसबसादगीसेऔरसीमितलोगोंकेसाथहोरहाहै।कोईबड़ेआयोजनभीनहींहोरहेहैं।बड़ीसंख्यामेंमजदूरभीअपनेमूलराज्योंमेंचलेगएहैं।धार्मिकसंस्थानभीबंदहैं,जहांपरभंडारे-लंगरआदिआयोजितहोतेथे।इन्हींकारणोंसेमांगमेंजबरदस्तकमीहै।कमीहै,तोसब्जीसस्तीबिकरहीहै।दामनमिलनेपरकिसानोंनेकईबारतोफसलकोमंडीसेवापसलेजाकरअपनेपशुओंकोचारेमेंखिलायाहै।किसानोंकाकहनाहैकिमंदा-सस्ताबाजारमेंहमेशाचलतारहताहै,लेकिनजैसामंदाइसबारदेखाहै,ऐसाकभीनहींदेखा।सब्जियोंकेभावरुपयेप्रतिकिलोग्राम

-हरीमिर्च-40रुपये

-शिमलामिर्च-40रुपये

-अदरक-30रुपयेपिछलेवर्षकेमुकाबलेसब्जियोंकेभावइसबारतीनगुनाकमहैं।पिछलेवर्षमटर250रुपयेकिलोबेचरहेथे,इसबार250रुपयेकीपांचकिलोमटरबेचरहेहैं।ऐसेहीफूलगोभीपिछलेवर्षइनदिनोंमें150रुपयेकिलोहोगईथी,इसबार60रुपयेकिलोहै।

-मनोजकुमार,सब्जीविक्रेताहमारेलिएतोअच्छीबातयहहैकिसब्जियांसस्तीमिलरहीहैं।बाकीघरमेंसब्जियांभीसीमितमात्रामेंबनरहीहैं।प्रोटीनकेचलतेदालेंज्यादाबनरहीहैं।

-रजनीगोयल,गृहणीसब्जियोंकीमंदीनेकिसानोंकीआर्थिकरूपसेकमरतोड़दीहै।कईदिनऐसाहुआहैकिघीयाऔरभिडीकोमंडीसेवापसलाकरपशुओंकोडालाहै।क्योंकिमंडीमेंभावहीनहींमिलरहा।कईकिसानोंनेअपनीसब्जीकीफसलकीजुताईकरदी।

-रामफलकिसान,बहादरपुरकिसानोंकोभावांतरयोजनाकालाभतोतभीमिलता,जबवोयोजनाकेतहतपंजीकरणकराते।हमारेपासमेंकिसीभीकिसानकीयोजनाकेतहतअपनीफसलकापंजीकरणकरानेकीसूचनानहींहै।इसलिएमंडीमेंआढ़तीसब्जीजिसभावखरीदतेहैंकिसानउसीरेटपरबेचेंयाफिरवापसलेजाएं।

-इंद्रपालसिंह,अतिरिक्तसचिवएवंकार्यकारीअधिकारी,मार्केटकमेटीबल्लभगढ़