Category Hierarchy

पूर्णिया।सरकारीस्वास्थ्यव्यवस्थाकीहालबदसेबदतरहै।सरकारीस्वास्थ्यसेवागांवसेलेकरशहरतककीहालबेहालबनाहुआहै।प्रखंडमुख्यालयकीस्वास्थ्यव्यवस्थाहोयाफिरग्रामीणस्तरकीस्वास्थ्यव्यवस्थाकीहालबेहालहैं।प्रखंडकेप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रऔरअतिरिक्तप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रमेंतोसामान्यसुविधातकनहींहै।यहांकाभवनकाफीजर्जरहै।बारिशहोनेपरछतसेपानीटपकताहै।अस्पतालकीकुव्यवस्थाऔरविभागीयअनदेखीकेकारणरोगियोंकेपरिजनोंकाहंगामायहांआमबातहै।इसकेपीछेकीहकीकतरोगियोंकोसमुचितचिकित्सकीयसुविधानहींमिलना।प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रबड़हराकोठीकोलगभगढाईलाखलोगोंकेस्वास्थ्यसुरक्षाकाभारहै।वहांचिकित्सकवकर्मचारियोंकीभाड़ीकमीहै।यहांचिकित्सकोंकेलिएआठपदसृजितहै।परन्तुवर्तमानमेंचारहीनियुक्तहै।94एएनएमकेसृजितपदोंमेंसेमहक45हीनियुक्तहै।जबकियहांएकडॉक्टरश्वेतादीप्तिअक्टूबरमेंयोगदानकीथी।जिसकापदस्थापकेबादसेहीगायबहै।अस्पतालबाहरीलुकदेखनेपरकाफीफिटदिखाईदेताहै।लेकिनअस्पतालपरिसरमेंघुसनेपरहकीकतबयाकरतीहै।जजर्रभवनचाहेडॉक्टरोंकाआवासहोयाफिरस्वास्थ्यकर्मियोंकाआवासयाफिरबॉक्सस्टोररूम।प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रबड़हराकोठीमेंरात्रिड्यूटीमेंकामकरनेवालीस्वास्थ्यकर्मीएएनएमहोयाफिरआशाकार्यकर्ताओंकेलिएरूमकीव्यवस्थानहींहै।रात्रिड्यूटीमेंकामकरनेवालीस्वास्थ्यकर्मीआउटडोरमेंलगेटेबुलकुर्सीपरबैठकरकार्यकरतीहै।अस्पतालपरिसरकेजर्जरभवनकोदेखइलाजकरानेवालेरोगीऔरउनकेपरिजनोंभीभवनकीजर्जरहालतदेखकरकाफीडारेसहमेहुएरहतेहै।अस्पतालमेंओपीडीमेंनित्यदिनरोगियोंकीभीड़लगीहुईरहतीहै।प्रतिदिन150से200रोगियोंकोदेखाजाताहै।यहांआपातकालीनचिकित्सीयसेवामेंभीड़रहतीहै।इतनेबड़ीआवादीकेलिएसंसाधनकेअभावमेंमरीजोंकीभीड़रहतीहै।औरबातबातहंगामाहोतीहै।सुविधाएंनहीहोनेवजहसेअधिकांशरोगीकोवेहतरइलाजकेलिएरेफरकरदियाजाताहै।रेफरकरनेकीस्थितिमेंभीहंगामाहुआकरताहै।अस्पतालमेंमात्रएकएम्बुलेंसहैजोहमेशाखराबहीरहताहै।मालूमहोकिप्रखंडक्षेत्रमेंप्रखंडमुख्यालयस्थितप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रकेअलावेतीनअतिरिक्तप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रहै।इसबाबतप्रभारीचिकित्सापदाधिकारीडॉक्टरअजयकुमारनेबतायाकिअस्पतालमेंचिकित्सकऔरकर्मियोंकीकमीहै।