Category Hierarchy

नईदिल्‍ली(जेएनएन)।किसानोंऔरसरकारकेबीचखींचतानकोईनयामुद्दानहींहै।किसीनकिसीमुद्देपरकिसानसरकारकेखिलाफअपनाविरोधप्रदर्शनव्‍यापकस्‍तरपरकरतेरहेहैं।इसबारजबराकेशटिकैतनेदिल्‍लीमेंसंसदभवनजाकरअपनीफसलबेचनेकाएलानकियाहैतोएकबारफिरसेउसकिसानआंदोलनकीयादताजाहोनेलगीहैजोउनकेपिताचौधरीमहेंद्रसिंहटिकैतकेनेतृत्‍वमेंकरीबतीनदशकपहलेहुआथा।उन्‍होंनेहीभारतीयकिसानयूनियनकागठनभीकियाथा।आपकोबतादेंकिवर्तमानमेंमेंकिसानोंकाविरोधप्रदर्शनकेंद्रद्वारालागूतीनकृषिकानूनोंकेविरोधमेंहोरहाहै।इनप्रदर्शनकारियोंंकीमांगहैकियेकानूनरदकिएजाएं।किसानोंकेसमर्थनमेंविपक्षीपार्टियांभीआचुकीहैं।

किसानआंदोलनमेंताजामोड़सुप्रीमकोर्टकीसुनवाईकेबादआयाहैजिसमेंसंयुक्‍तकिसानमोर्चाकीतरफसेकहागयाथाकिउन्‍होंनेसड़कोंकोबंदनहींकियाहै।येसड़केंपुलिसद्वाराबेरीकेटलगानेकीवजहसेबंदहैं,हमतोदिल्‍लीजानाचाहतेथे।इसकेबादजबकोर्टनेइसबातपरकिसानोंसेहलफनामामांगातोउसकेबादचीजेंलगातारबदलतीचलीगईं।फिलहालकिसानोंनेदिल्‍लीकीसीमासेसटीकईसड़कोंसेअपनेअवरोधोंकोहटालियाहै।अबगाजीपुरपरकिसानोंकानेतृत्‍वकरनेवालेराकेशटिकैतनेकहाहैकिपीएमनेकिसानोंंकोकहींभीअपनीफसलबेचनेकीबातकहीहै।इसलिएअबहमपार्लियामेंटमेंअपनीफसलबेचनेजारहेहैं।उनकेमुताबिकसड़कोंकोबंदकरनाउनकेविरोध-प्रदर्शनकाहिस्‍सानहींहै।

1988मेंजबमहेंद्रसिंहटिकैतकेनेतृत्‍वमेंदिल्‍लीकूचकियाथा,उसवक्‍तउनकेसाथलाखोंकिसानथे।उसवक्‍तकिसानोंकासैलाबदिल्‍लीकेबोटक्‍लबपरदिखाईदियाथा।उसवक्‍तबोटक्‍लबपरसैकड़ोंट्रैक्‍टरऔरबुग्‍गीसमेतघोड़ा-गाड़ीदिखाईदेरहीथीं।सड़कपरचारपाईडालकरहुक्‍कागुड़गुड़ातेकिसानकेंद्रसरकारकेलिएबड़ीपरेशानीकासबबबनगएथे।इसकेआसपासकरीब3-4किलोमीटरकेइलाकेमेंकेवलकिसानहीकिसानथे।उसवक्‍तकिसानोंकोरोकनेकेलिएपुलिसकोकड़ीमशक्‍कतकरनीपड़ीथी।

इसदौरानप्रदर्शनकारियोंऔरपुलिसकेबीचतीखीनोकझोंकतकहुईथी,जिसमेंकुछपुलिसकर्मीघायलतकहोगएथे।इसप्रदर्शनकोकिसानोंकेसबसेबड़ेप्रदर्शनकेतौरपरगिनाजाताहै। इसीदौरमेंबोटक्‍लबकोधरनाप्रदर्शनकेलिएप्रतिबंधितकरदियागयाथाऔरइसकीजगहविरोधप्रदर्शनकरनेवालोंकोजंतर-मंतरकीजगहदीगईथी।