Category Hierarchy

नईदिल्‍ली.हालहीमेंकोरोनाटीकाकरणअभियान(CoronaVaccination)केतहत100करोड़वैक्‍सीनडोज(CoronaVaccine)लगानेकाआंकड़ापारकरनेपरदेशकोसंबोधितकरतेहुएप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदी(NarendraModi)नेइसअभियानकीखुलकरतारीफकी.इससफलअभियानकोलेकरउन्होंनेकहाकिइसनेआर्थिकसुधारऔरवृद्धिमेंएकअहमभागीदारीनिभाईहै.

टीकाकरणअभियाननेभारतकीअर्थव्यवस्थामेंभीएकबूस्टरशॉटकीतरहकामकिया.इससेलोगोंमेंआशावादपनपा,निवेशबड़ा,ज्यादानौकरियांउत्पन्नहुईंऔरकुलमिलाकरकोरोनाकीवजहसेजोभविष्यअंधकारमेंडूबतासालगरहाथावोअबउज्जवलनज़रआरहाहै.खासबातयहरहीहैकितमामतरहकीआलोचनाओं,निराधारविरोधऔरनिराशावादीअनुमानकेबावजूदप्रधानमंत्रीमोदीनेबगैरकिसीहिचककेइसअभियानकानेतृत्वकिया.

भारतीयअर्थव्यवस्थाअबवाकईमेंगतिपकड़रहीहै,जोपिछलेसालकोविडकीवजहसेलगेलॉकडाउनकेकारणधीमीपड़गईथी.2021-22वित्तवर्षकीपहलीतिमाहीमेंजीवीए(सकलमूल्यवर्धित)में18.8फीसदकीबढ़ोतरीदिखी,जबकिपिछलेसालपहलीतिमाहीमेंगिरावटदर्जकीगईथी.यहांयहयादरखनाभीज़रूरीहैकिइससालकीपहलीतिमाहीमेंजबआर्थिकसुधारोंकीशुरुआतहुईउसदौरानदेशकोविडकीदूसरीलहरसेजूझरहाथाऔरदेशमेंआंशिकलॉकडाउनभीलगाहुआथा.

इसवित्तवर्षकीपहलीतिमाहीपरनजरडालेंतोसमझाआताहैकिसेवा,खासकरखुदराऔरव्यापारक्षेत्रपरलॉकडाउनकीवजहसेसबसेबुराअसरपड़ाहै.जबकिअर्थव्यवस्थाकेदूसरेक्षेत्रोंनेंअच्छाकामकियाहै.बैंकिगक्षेत्रभीएनपीएकेसंकटसेबाहरआगयाहैऔरसकलएनपीए2018मेंजोकुलउधार15फीसदथावोआजघटकर7फीसदरहगयाहै.औरहालहीमेंनिजीबैंकोंनेजोमुनाफादिखायाहै,उससेसमझआताहैकिवोपूरीतरहसेठीकहोगयाहै.ब्याजदरभी8.5फीसदसे2फीसदकमहोगईहैंजिसकालाभउद्योगजगतकोमिलरहाहै.

उद्योगजगतकेएकबड़ेवर्गनेबैंकिंगक्षेत्रमेंअपनीउधारीकाबड़ाहिस्साचुकादियाहै.पिछले12महीनोंमेंडिपोजिटमें9.5फीसदबढोतरीहुईहैऔरसाथहीकर्जमेंभी6.5फीसदबढोतरीदर्जकीगईहै.कुलमिलाकरबैंकिंगक्षेत्रकेपासपर्याप्तपूंजीहै.इसकाअसरबैंकिंगफर्मकीस्टॉककेदामोंपरभीदेखनेकोमिलरहाहैजोकीएकअच्छासंकेतहै.

कममुद्रास्फीतिऔर6.5फीसदकीकमब्याजदरकीबदौलतमुंबईसहितअन्यशहरोंमेंआवासकेलिएकर्जमेंवृद्धिदेखीगईहै.मध्यमवर्गऔरनिम्नमध्यमवर्गअबघरखरीदनेमेंरुचिलेरहेहैं,खासकरकोविडकेबादउन्हेंअहसासहुआहैकिउन्हेंबड़ेघरकीज़रूरतहै.रियलएस्टेटभारतीयअर्थव्यवस्थामेंअहमस्थानरखतीहै,उसमेंभीसुधारदेखनेकोमिलरहाहै,क्योंकिघरखरीदनेमेंलोगोंकीरुचिबड़ीहै.

कंपनीअपनेकर्जचुकानेकीस्थितिमेंहैऔरइसवजहसेइसक्षेत्रकीकंपनियोंकीबैलेंसशीटपहलेकीतुलनामेंबेहतरहोरहीहै.नईपरियोजनाओंकीशुरूआतमेंइसकेलिएएकअच्छासंकेतहै.

निजीक्षेत्रकाकेपेक्स(केपिटलएक्सपेंडिचर)यानीकिपूंजीगतव्ययपिछलेपांचसालोंमेंकमजोररहाहै.लेकिनअबक्षमताकेविस्तारकोलेकरकईघोषणाएंसुननेकोमिलरहीहैं,जोएकअच्छीपहलहै.सरकारनेभीपूंजीगतव्ययकेलिएअपनेआवंटनकोबढाकर5.6लाखकरोड़करदियाहै,जिसकीबदौलतकाफीसमयसेअटकीहुईकईइन्फ्रास्ट्रक्चरसेजुड़ीपरियोजनाएंपूरीहोरहीहै.इसतरहसेइन्फ्रास्ट्रक्चरक्षेत्रसरकारकीखर्चकीबदौलतलगातारबेहतरप्रदर्शनकररहाहै.

यहीनहींकरसंग्रहमेंभीइससालउल्लेखनीयबढ़ोतरीदेखीगईहै.जोप्रत्यक्षऔरअप्रत्यक्षकरकेमामलेमेंअगस्तसेपहलेकेपांचमहीनोंमें70से80फीसदवृद्धिदिखातीहै.पांचमहीनेकिअवधिमेंराजकोषीयघाटेमेंभीकमीआईहै.उम्मीदकीजारहीहैकिइससालकरसंग्रहपिछलेसालकीतुलनामे2-3लाखकरोड़ज्यादाहोसकताहै.वित्तमंत्रालयनेहालहीमेंकहाथाकिवोइससालकेलिएबजटमें12.5लाखकरोड़सेज्यादाकर्जनहींलेगा,जबकिजीएसटीमुआवजेऔरउच्चव्ययकेतौरपरउन्हेंकरीब1.5लाखकरोड़रुपएदेनेहोंगे.

सबसेबेहतरीनप्रदर्शनकरनेवालाक्षेत्रहै,आईटी-जहांज्यादातरशीर्षकंपनियोंनेदूसरीतिमाहीमेंदोअंककीवृद्धिदर्जकीहैऔरउम्मीदकीजारहीहैकिकमसेकमअगलेदोसालतकयेदोअंककीवृद्धिबरकराररहेगी.शीर्षपांचकंपनियोंनेपिछले6महीनोंमेंकरीब1लाखलोगोंकोरोजगारदियाहै.विशेषज्ञोंकामाननाहैकिआईटीऔरस्टार्टअपक्षेत्रमेंकरीब6लाखनौकरियांउत्पन्नहोंगी.

अगरकर्मचारीभविष्यनिधिसंगठन(ईपीएफओ)केआंकड़ोंपरनज़रडालेंतोनौकरियोंकेमामलेमेंउत्साहजनकपरिणामदिखतेहैं.रोजगारकेमामलेमेंकर्मचारीभविष्यनिधिसंगठनकेआंकड़ेसबसेप्रामाणिकमानेजासकतेहैं.

अगरकॉरपोरेटक्षेत्रकीबातकरेंतोपिछलेसालसिंतबरसेअबतकइसमेंसुधारऔरवृद्धिदर्जकीगईहै.इसकेपीछेएकबड़ीवजहकरदरमें25फीसदकमीहै.घटीहुईकॉरपोरेटकरदरनेयेसुनिश्चितकियाहैकिकॉरपोरेटअपनेकर्जचुकाएंऔरअपनीबैलेंसशीटकोबेहतरबनाएं.

कुलमिलाकरअगरदेखाजाएतोभारतीयअर्थव्यवस्थाएकउम्मीदजगातीहै.भारतकासकलघरेलूउत्पाद(जीडीपी)कोलेकरभीउम्मीदहैकिवोइसतिमाहीमेंकोविडकेपहलेवालीसमयकीस्थितिमेंआजाएगी.सभीवैश्विकफर्मऔरविश्लेषकजैसेविश्वबैंक,आइएमएफऔरअन्यकोउम्मीदहैकिभारतकीवृद्धि8.5से10फीसदतकहोजाएगी.

इससालकरीब5फीसदकीमुद्रास्फीतिकेसाथहमें13.5से15फीसदकीमामूलीवृद्धिदेखनेकोमिलसकतीहै,लेकिनआनेवालेसालोमेंइसकेबढ़नेकीपूरीउम्मीदहै.औरअगरइसीतरहगतिबनीरहतीहैतोभविष्यमेंनौकरियोंकेपैदाहेकेसाथसाथ,भारत2026तकभारत5ट्रिलियनअमरीकीडॉलरवालीअर्थव्यवस्थाहोनेकामाद्दारखताहै.(इसलेखकोमोहनदासपईनेलिखाहै.यहलेखककेनिजीविचारहैं.लेखकआरिनकैपिटलपार्टनर्सकेचेयरमैनहैं.)

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:Coronavaccination,Coronavirus,Indianeconomy