Category Hierarchy

Women&MenSexRatioInIndia:भारतकेराष्ट्रीयपरिवारऔरस्वास्थ्यसर्वेक्षण-5(NFHS-5)कीरिपोर्टकेअनुसारभारतमेंपहलीबारलिंगानुपात1,020:1,000केसाथमहिलाओंकीसंख्यापुरुषोंसेआगेनिकलगईहै.भारतकेस्वास्थ्यमंत्रालयकेप्रवक्ताकेअनुसारयहभारतमेंहोरहेबड़ेजनसांख्यिकीयबदलावकीओरइशाराकरताहै.स्वास्थ्यमंत्रालयकेएकप्रवक्ताकेअनुसारअबहमकहसकतेहैंकिभारतविकसितदेशोंकीलीगमेंशामिलहोगयाहैऔरलिंगानुपातकेमामलेमेंआगेबढ़रहाहै.उन्होंनेआगेकहाइसकाश्रेयवित्तीयसमावेशन,महिलासशक्तिकरणऔरजेंडरपरसेप्शनऔरअसमानताकामुकाबलाकरनेकेलिएउठाएगएकदमोंकोजाताहै.

भारतमेंजन्मकेसमयकेलिंगानुपातपरयदिनजरडालेंतोयह2015-16में919सेबढ़कर2019-20में929होगयाथा.जोपीसीऔरपीएनडीटीअधिनियमऔरअन्यविभिन्नसरकारीअधिनियमोंऔरयोजनाओंकीसफलताकोदर्शाताहै.24नवंबर2021कोभारतकेकेंद्रीयस्वास्थ्यमंत्रालयनेभारतके14चरण-IIराज्योंऔरकेंद्रशासितप्रदेशोंकीजनसंख्या,प्रजननऔरबालस्वास्थ्य,परिवारकल्याण,पोषणऔरअन्यस्वास्थ्यसंबंधीक्षेत्रोंकेसर्वेकोजारीकियाहै.इससेपहलेसरकारनेदिसंबर2020मेंपहलेचरणमेंशामिल22राज्योंऔरकेंद्रशासितप्रदेशोंकेNFHS-5केसर्वेजारीकिएगएथे.

अधिकारियोंकेमुताबिक,NFHS-5केसर्वेसेउन्हेंयहपताचलाकिदेशमें88.6%बच्चोंकेजन्म(सर्वेक्षणसेपहलेके5वर्षोंमें)अस्पतालोंमेंहुएहैं.उनकाकहनाथाकिNFHS-4(78.9%)कीतुलनामेंयहएकमहत्वपूर्णवृद्धिहै.साथहीयहइसबातकाप्रमाणहैकिभारतहॉस्पिटलॉइज्डबर्थकीयुनिवर्सलस्टेजप्राप्तकरनेकीदिशाकीओरअग्रसरहै.अधिकारियोंनेआगेकहाकिबच्चेकोजन्मदेतेसमयजच्चाऔरबच्चाकीमृत्युदरमेंकमीकेलिएउनकाअस्पतालमेंप्रशिक्षितस्वास्थ्यकर्मियोंद्वाराप्रजननकराएजानेकीआवश्यकताहै.

बच्चेकेजन्मकेदौरानकुशलदेखभालकिएजानेकोलेकरमहत्वपूर्णरणनीतियहहैकिसभीजन्मउचितस्वास्थ्यसुविधाओंकीउपस्थितिमेंहुएहों.जहांप्रसवकेदौरानउत्पन्नजटिलपरिस्थितियोंसेनिपटाजासके. सर्वेक्षणकेआधारपरदावाकियागयाहैकिदेशमेंकुलप्रजननदर(totalfertilityrate)प्रजननक्षमताकेरिप्लेसमेंटलेवलतकपहुंचगईहै.जोकिजनसंख्याकेक्षेत्रमेंमहत्वपूर्णमीलकापत्थरहै.

2015-16में2.2कीतुलनामें2019-21मेंभारतकेलिएTotalfertilityRateप्रतिमहिला2.0बच्चोंतकपहुंचगयाहै.इसकामतलबहैकिमहिलाएंअपनेप्रजननकालमेंपहलेकीतुलनामेंकमबच्चोंकोजन्मदेरहीहैं.मंत्रालयकेअधिकारीनेकहा,यहपरिवारनियोजनसेवाओंकेबेहतरज्ञानऔरउपयोग,विवाहमेंदेरीसेप्रवेशकाभीसंकेतदेताहै.वहीं5वर्षसेकमउम्रकेबच्चोंकेलिएजन्मपंजीकरण(सिविलऑथारिटीकेसाथ)79.7प्रतिशत(एनएफएचएस-4),2015-16 सेबढ़कर89.1प्रतिशतहोगयाहै.

वहींस्वास्थ्यअधिकारीकेअनुसारपिछलेदौरकेबादसेयहएकमहत्वपूर्णवृद्धिहै.गर्भनिरोधककाउपयोगविशेषरूपसेकिशोरलड़कियोंवमहिलाओंकेलिएगर्भावस्थासेसंबंधितस्वास्थ्यजोखिमोंकोरोकताहै.वहींजन्मकेबीचठीकतरीकेसेनियोजितअंतरालशिशुमृत्युदरकोरोकनेमेंमददगारसाबितहुआहै.

ExtortionCase:मुंबईकेपूर्वपुलिसकमिश्नरपरमबीरसिंहसेक्राइमब्रांचनेकी7घंटेतकपूछताछ,कहा-मुझपरलगेआरोपझूठे