Category Hierarchy

सुष्मीडे,नईदिल्लीसरकारीथिंकटैंकनीतिआयोगनेस्वास्थ्यसेवाउपलब्धकरानेवालोंकोस्वास्थ्यपरहोनेवालेखर्चकोकमकरनेकोकहाहै।ताकिइसकीपहुंचकोऔरबढ़ायाजासके।भारतकेलिए21वींसदीकाहेल्थसिस्टमतैयारकरनेसंबंधीएकरिपोर्टमेंनीतिआयोगनेहेल्थसेक्टरमेंबदलावकेलिएसेवाओंकी'रणनीतिकखरीदारी'औरहेल्थरिकॉर्डकेडिजिटाइजेशनकासुझावदियाहै।रिपोर्टमेंआयोगनेमिडिलक्लासकेलिएहेल्थकेयरसिस्टमबनानेकीवकालतकीहै।सोमवारकोनीतिआयोगकेचेयरमैनराजीवकुमारनेमाइक्रोसॉफ्टकेको-फाउंडरबिलगेट्सकीमौजूदगीमेंयहरिपोर्टरिलीजकी।रिपोर्टमेंहेल्थसिस्टमकेचारक्षेत्रचिह्नितकिएगएहैं:अधूरेसार्वजनिकस्वास्थ्यएजेंडेतकपहुंच,नागरिकोंकोस्वास्थ्यसेवाओंकाबेहतरखरीदारबनाना,जेबखर्चकोकमकरनेकेलिएस्वास्थ्यसेवाओंकाएकीकरणऔरहेल्थकेयरकाडिजिटाइजेशन।हेल्थसिस्टमफॉरन्यूइंडियानामकीइसरिपोर्टमेंकहागयाहै,'हरसालकरीबएकबिलियनकेलेनदेनकीकल्पनाकीजिए,जहांमरीजलाखोंस्वास्थ्यसेवादेनेवालेप्रोवाइडरसेइलाजकरातेहैं।इनमेंज्यादातरप्राइवेटप्रोवाइडरहैं,जोखुदअपनीकीमततयकरतेहैं।'आयोगनेऐसेमिडिलक्लासकेलिएहेल्थकेयरसिस्टमतैयारकरनेकीवकालतकीहै,जोकिसीभीपब्लिकहेल्थकेयरसिस्टमकेदायरेमेंनहींआतेहैं।नीतिआयोगनेसुझावदियाहैकिहेल्थसिस्टमकाफाइनैंससिस्टमऐसेबदलावहोनेचाहिएकिबेवजहकेखर्चमेंकटौतीआएऔरबड़ेरिस्कवालेकेसकेलिएज्यादाधनउपलब्धहो।भारतमेंस्वास्थ्यपरखर्च(केंद्रऔरराज्यसरकारमिलाकर)कुलजीडीपीकाकरीब1.4प्रतिशतहै।वहींदूसरीतरफभारतमेंकरीब20प्रतिशतआबादीहीहेल्थइंश्योरेंसकेदायरेमेंआतीहै।हालांकिआयुष्मानभारतयोजनाइसदायरेकोबढ़ानेकीकोशिशकररहाहै,जिसमेंकुछसमयलगसकताहै।रिपोर्टकहतीहैकिभारतमेंहेल्थसिस्टममेंएकसफलबदलावकेलिएएकसाथधनराशिकमकरनेऔरविखंडनकाप्रावधानकरनाहोगा।