Category Hierarchy

मोतिहारी।किसानोंकोबदलतेसमयकेअनुसारअपनीआमदनीकोबढ़ानेकेलिएनकदीफसलकेरूपमेंसब्जीकीखेतीमेंभीबदलावलानेकीजरूरतहै।बदलतेमौसमकेसाथकिसानोंकोजैविकखेतीकरनीहोगी।इससेजहांएकओरलोगोंकोशुद्धवस्वच्छसब्जीमिलसकेगी।वहींकिसानोंकीमालीहालतमेंभीसुधारहोगा।रसायनिकखादपरनिर्भरताघटेगीऔरउत्पादनबढ़ेगा।किसानफसलमौसमकोकेंद्रमेंरखकरलगाएंगेतोइसकेकईलाभहोंगे।फसलतबाहनहींहोगीऔरउत्पादनज्यादाहोगा।किसानोंकीफसलठीकसमयपरउचितदामपरबिके,इसकेलिएजिलामुख्यालयसेलेकरअनुमंडलतकबाजारउपलब्धकरायाजाचुकाहै।यहांकिसानअपनीफसलउचितमूल्यपरबेचसकतेहैं।हालांकि,रसायनिकखेतीकेआदिहोचुकेकिसानोंकेलिएजैविकखेतीअपनानाकठिनसाबितहोरहाहै।यहबातवैसीहीहैजैसेकिमांसाहारीभोजनकेफायदोंकाप्रचार-प्रसारकरकेलोगोंकोमांसाहारीबनायाजाए।फिर30वर्षकेबादकहाजाएकिशाकाहारीभोजनसेहतवपर्यावरणकेलिएफायदेमंदहै।मांसहारीभोजनकास्वादचखचुकेलोगोंकोउसेछोड़नाकाफीकठिनहोताहै।यहीबातरसायनिकखेतीसेजैविकखेतीकेसंबंधमेंलागूहोतीहै।हालांकिसरकारइनदिनोंजैविकखेतीकोप्रोत्साहितकरनेकेलिएव्यापकप्रचार-प्रसारकररहीहै।ऐसेमेंकिसानोंकोजैविकखेतीकोजाननाहोगाऔरसरकारीअनुदानलेकरइसेकरनाहोगा।जैविकखेतीसेहोनेवालेलाभभूमिकीउत्पादनक्षमतामेंवृद्धिहोतीहै,सिचाईअंतरालमेंवृद्धिहोतीहै,रसायनिकखादपरनिर्भरताकमहोनेसेलागतमेंकमीआतीहैऔरफसलोंकीउत्पादकतामेंभीवृद्धिहोतीहै।मिट्टीकीबढ़तीहैक्षमता

जैविकखादकेउपयोगसेभूमिकीगुणवत्तामेंसुधारआताहै,भूमिकीजलधारणक्षमताबढ़तीहै,भूमिसेपानीकावाष्पीकरणकमहोताहैजोपर्यावरणकी²ष्टिसेलाभदायकहै,भूमिकेजलस्तरमेंवृद्धिहोतीहै।साथहीमिट्टी,खाद्यपदार्थऔरजमीनमेंपानीकेमाध्यमसेहोनेवालेप्रदूषणमेंकमीआतीहैऔरकचरेकाप्रयोगखादबनानेमेंहोनेसेबीमारियोंमेंकमीआतीहै।इससेकिसानोंकेफसलउत्पादनकीलागतमेंकमीएवंआयमेंवृद्धिहोगी।जैविकखेती:किसमौसममेंकौनसीलगाएसब्जीजनवरी-राजमा,शिमलामिर्च,मूली,पालक,बैंगन,चप्पोनकद्दू।फरवरी-राजमा,शिमलामिर्च,खीरा,ककड़ी,लोबिया,करेला,लौकी,तुरई,पेठा,खरबूजा,पालक,फूलगोभी,बैंगन,भिडी,अरबी,एस्पेरेगस,ग्वार।मार्च-गाजर,खीरा,ककड़ी,लोबिया,करेला,लौकी,तुरई,पेठा,खरबूजा,पालक,भिडी,अरबी।अप्रैल-चौलाई,मूली।मई-फूलगोभी,बैंगन,प्याज,मूली,मिर्च।जून-फूलगोभी,खीरा,ककड़ी,लोबिया,करेला,लौकी,तुरई,पेठा,बीन,भिडी,टमाटर,प्याज,चौलाई,शरीफा।जुलाई-खीरा,ककड़ी,लोबिया,करेला,लौकी,तुरई,पेठा,भिडी,टमाटर,चौलाई,मूली।अगस्त-गाजर,शलगम,फूलगोभी,बीन,टमाटर,कालीसरसोंकेबीज,पालक,धनिया,ब्रसल्स,स्प्राउट,चौलाई।सितंबर-गाजर,शलगम,फूलगोभी,आलू,टमाटर,कालीसरसोंकेबीच,मूली,पालक,पत्तागोभी,कोहीराबी,धनिया,सौंफकेबीच,सलाद,ब्रोकोली।अक्टूबर-गाजार,शलगम,फूलगोभी,आलू,टमाटर,कालीसरसोंकेबीज,मूली,पालक,पत्तागोभी,कोहीराबी,धनियां,सौंफकेबीज,राजमा,मटर,ब्रोकोली,सलाद,बैंगन,हरीप्याज,ब्रसल्सा,स्प्राउट,लहसुन।नवंबर-चुकंदर,शलगम,फूलगोभी,कालीसरसोंकेबीज,मूली,पालक,पत्तागोभी,शिमलामिर्च,लहसुन,प्याज,मटरधनिया।दिसंबर-टमाटर,कालीसरसोंकेबीज,मूली,पालक,पत्तागोभी,सलाद,बैंगनवप्याज।वर्जन

जैविकसेअनेकसब्जियोंकीखेतीकिसानकरसकतेहैं।इसकेलिएजरूरीहैसमयवखपतकाचयनकरना।किसानजिलेमेंअत्यधिकखपतवालीसब्जियोंकीखेतीकरबेहतरआमदनीकरसकतेहैं,लेकिनइसकेलिएजरूरीहैसमयकाचयन।फिलहालसरकारकुछसब्जियोंकेजैविकउत्पादनपरकिसानोंकोअनुदानउपलब्धकरारहीहै,जिसकालाभभीकिसानउठारहेहैं।

जिलासहायकउद्यानपदाधिकारी(पूचं.)