Category Hierarchy

मधेपुरा,जेएनएन।कृषिकार्यकेसाथकिसानोंकोस्वावलंबीबनानेपरकृषिविभागजोरदेरहीहै।इसकेलिएकिसानोंकोराइसमिल,दालमिलरबरराइसमिल,आयलमिलस्थापितकरनेकोलेकरकृषिविभागकेद्वाराअनुदानउपलब्धकरायाजाएगा।कृषिकार्यकेसाथसाथइसतरहकेलधुउद्योगकेलिएकिसानोंकोप्रेरितकरनेकाअभियानकृषिविभागकीओरचलायाजारहाहै।कृषिविभागसेमिलीजानकारीकेअनुसारकिसान31नवंबरतकइसयोजनाकेलिएआवेदनकरसकतेहैं।किसानोंकोअनुदानितदरपरकरीब26प्रकारकायंत्रउपलब्धकरायाजाएगा।इसकेलिएकिसानोंकोकृषिविभागकेवेबसाइटपरऑनलाइनआवेदनकरनाहै।आवेदनस्वीकृतहोनेपरकिसानकृषिविभागसेपंजीकृतदुकानोंसेअनुदानितदरपरयंत्रोंकीखरीदकरसकेंगे।

ऑनलाइनआवेदनकीप्रक्रियाजारी

यंत्रोंकीखरीदकोलेकरकिसानोंसेऑनलाइनआवेदनमांगागयाहै।आवेदनकरनेकीप्रक्रियाप्रारंभकरदीगईहै।किसान31नवंबरतकआवेदनकरसकेंगे।जिलाकृषिपदाधिकारीराजनबालननेबतायाकिकिसानोंकोऑनलाइनकरनेमेंकोईसमस्याहोनेपरतत्कालजिलाकृषिकार्यालयआकरइसकीजानकारीदें।जिलाकृषिकार्यालयसेकिसानोंकीसमस्याकोदूरकरनेकीपूरीपहलकीजाएगी।

ईबीसीऔरएससीएसटीकोमिलेगा80प्रतिशतअनुदान

राष्ट्रीयखाद्यसुरक्षामिशनऔरराष्ट्रीयकृषिविकासयोजनाकेतहतकिसानोंकोविभिन्नतरहकेकृषिउपकरणअनुदानितदरउपलब्धकरायाजारहाहै।इसमेंमानवचलितपावरस्पेयरसहितकईतरहकेउपकरणशामिलहैं।सहायकनिदेशककृषिअभियंत्रणमुरारीकुमारनेबतायाकिकृषिउपकरणसहितदालमिल,आयलमिल,राइसमिलकेस्थापितकरनेपरईबीसीऔरएससीएसटीकोटेसेआनेवालेकिसानोंको80प्रतिशतअनुदानकृषिविभागसेदियाजाएगा।वहींसामान्यवर्गसेआनेवालेकिसानोंको50प्रतिशतकाअनुदानदेनेकालक्ष्यनिर्धारतकियागयाहै।

किसानोंकोस्वावलंबीबनानेकोलेेकरकृषिविभागनेपहलकीहै।किसानोंकेलिएयहएकबेहतरअवसरहै।किसानकृषिकार्यकेसाथराइसमिल,तेलमिलयादालमिलकीस्थापनाकरअपनीआर्थिकस्थितिकोऔरबेहतरकरसकतेहैं।-राजनबालन, जिलाकृषिपदाधिकारी, मधेपुरा।