Category Hierarchy

नयीदिल्ली,17दिसंबर(भाषा)उपराष्ट्रपतिएमवेंकैयानायडूनेकृषिकोजलवायु-अनुकूल,लाभप्रदऔरसततबनानेकीजरूरतपरजोरदेतेहुएबृहस्पतिवारकोकहाकिकिसानोंकीआमदनीबढ़ानेकेसाथ-साथखाद्यएवंपोषणसुरक्षाकोभीसुनिश्चितकरनाहोगा।उन्होंनेयहभीकहाकिकिसानोंकोयहआजादीहोनीचाहिएकिवेअपनीउपजदेशमेंकहींभीबेचसकेंऔर‘ई-नाम’(राष्ट्रीयकृषिबाजार)केपीछेयहीविचाररहाथाकिपूरेदेशकेलिएएकसमानबाजारहोतथाइसकाविस्तारहोनाचाहिए।एकआधिकारिकबयानकेमुताबिक,तमिलनाडुकृषिविश्वविद्यालयके41वेंदीक्षांतसमरोहकोसंबोधितकरनेकेदौराननायडूनेइसबातपरजोरदियाकिशीतभंडार,गोदामजैसीपर्याप्तअवसंरचनातैयारकरनेऔरकिसानोंकोवहनीयदरपररिणमुहैयाकरनेकीजरूरतहै।उन्होंनेकहा,‘‘कृषिहमारीग्रामीणअर्थव्यवस्थाकाआधारहै,इसलिएज़रूरीहैकिइसेसतत,लाभप्रदऔरजलवायु-अनुकूलबनायाजाए।साथहीदेशकीखाद्यऔरपोषणसुरक्षाकोसुनिश्चितकरनाभीआवश्यकहै।’’नायडूकेअनुसार,हालकेवर्षोंमेंसरकारनेकृषिक्षेत्रमेंआमूलचूलसुधारलानेकीदिशामेंप्रयासकिएहैं।किसानोंकीआमदनीदुगुनीकरनेकेलिएव्यापकपरिवर्तनकिएजारहेहैं।हालकीप्रधानमंत्रीकिसानसम्माननिधिसेदेशके72फीसदीसेअधिककिसानोंकोलाभहुआहै।उन्होंनेकहाकिकिसानोंकीआमदनीबढ़ानेकेलिएजरूरीहैकिकृषिउत्पादकतामेंवृद्धिकीजाए,संसाधनोंकाबेहतरउपयोगकियाजाएऔरफसलोंमेंविविधतालाईजाए।