Category Hierarchy

सुपौल:किसानोंतकसहीजानकारीपहुंचाएबिनाहमउनसेबेहतरउत्पादनकरनेकीकल्पनानहींकरसकते।इसकेलिएजरूरीहैकिकिसानोंतकनसिर्फससमयजानकारीपहुंचाईजाए,बल्किबेहतरवआधुनिकतकनीकखेतीसेभीउन्हेंअवगतकरायाजाए।इसकेलिएसरकारनेपंचायतसेजिलास्तरतककृषिकर्मियोंकीएकफौजसीखड़ीकीहुईहै।परन्तुकहींनकहींकर्मियोंकीकर्तव्यहीनताकीवजहसेहमकृषिक्षेत्रमेंआमूलचूलपरिवर्तननहींलापारहेहैं।यहबातेंगुरुवारकोखरीफफसलकोबेहतरबनानेकेउद्देश्यसमाहरणालयमेंआत्माद्वाराआयोजितएकदिवसीयखरीफप्रशिक्षणसहकर्मशालाकेउद्घाटनअवसरपरजिलाधिकारीबैद्यनाथयादवनेकहीं।कर्मशालाकाउद्घाटनजिलाधिकारीबैद्यनाथयादवऔरजिलाकृषिपदाधिकारीप्रवीणकुमारझानेसंयुक्तरूपसेदीपजलाकरकिया।इसअवसरपरजिलाधिकारीनेकहाकिकिसानसलाहकारऔरकृषिसमन्वयकजोसीधेतौरपरकिसानोंसेजुड़ेहोतेहैं,परन्तुउनकेद्वारादायित्वोंकानिर्वहनसहीढंगसेनहींकरनेपरइसकासीधाअसरफसलोंकीपैदावारपरपड़ताहै।यदिकिसानगलतखाद-बीजकाप्रयोगकरतेहैंयाआधुनिकखेतीकेतकनीककाप्रयोगनहींकरतेहैंतोफिरकिसानखेतीकेआधुनिकतरीकेकोनहींअपनारहेहैंतोइसकेलिएजिम्मेदारकृषिकर्मियोंकीफौजहै।उन्होंनेसवालियालहजेमेंकहाकियदिकिसानोंकीकिस्मतदुकानदारोंकेहवालेहैतोफिरबड़ीलागतऔरकड़ीमेहनतकेबावजूदकिसानोंकामोहकिसानीसेदूरहोरहाहैतोफिरकृषिकर्मियोंकीबड़ीफौजकीक्याजरूरतहै।जिलाधिकारीनेकहाकिअबयेहवा-हवाईरिपोर्टऔरथोपा-थोपीकामनहींचलेगा।अपनेकर्तव्यकेप्रतिउदासीनरहनेवालेकर्मियोंपरअबसीधीकार्रवाईकीजाएगी।खरीफफसलकोलेकरजिलाधिकारीनेकहाकिजैसेएकबच्चेकाटीकाकरणहोना,उनकेअच्छेस्वास्थ्यकीगारंटीदेताहै।इसीप्रकारकृषिक्षेत्रमेंबीजकाटीकाकरणहोनाभीअच्छेपैदावारकेलिएआवश्यकहै।खरीफमौसममेंबीजटीकाकरणकोविभागएकमहापर्वकेरूपमेंलेतथायहसुनिश्चितकरेकिकिसानबिनाटीकाकरणकराएबीजकीबोआईनकरें।कहाकिकिसानोंकेबीचआयोजितहोनेवालेकिसानचौपालकामकसदकिसानोंकीसमस्यावउनकेसमाधानसेसंबंधितहोनाचाहिए।खासकरकिसानोंकीसमस्याओंपरफोकसहोनाचाहिए।चौपालोंमेंखानापूर्तिकरनेवालेसचेतहोजाएअन्यथासीधेतौरपरकार्रवाईकीजाएगी।कर्मशालामेंउपस्थितकृषिवैज्ञानिकोंसेजिलाधिकारीनेकहाकिशोधकेक्षेत्रमेंऐसाकामकरेंताकिकिसानोंकोबीजकेलिएबार-बारबाजारपरनिर्भररहनानपड़े।जिलासहकारितापदाधिकारीसेजिलाधिकारीनेफसलबीमाकीराशिभुगतानकोलेकरअग्रेतरकार्रवाईकरनेकोकहा।कहाकियदिकिसीप्रखंडमेंदुकानदारोंद्वारागलतबीजबेचाजाताहैतोवहजिम्मेवारीसंबंधितप्रखंडकृषिपदाधिकारीकीहोगीऔरवेकार्रवाईकीजदमेंआएंगे।डीएमकेरूखकोभांपजिलाकृषिपदाधिकारीप्रवीणकुमारझानेकहाकिप्रत्येकबीएओअपनेक्षेत्रकेदुकानदारोंसे10-10बीजकानमूनाइकट्ठाकरजांचकोभेजें।गलतबीजबेचनेवालेदुकानदारोंकीअबखैरनहींहोगी।तत्पश्चातकर्मशालामेंउपस्थितविशेषज्ञोंद्वाराखरीफफसलकीबेहतरीकेलिएकईटिप्सदिए।परियोजनानिदेशकआत्माराजनबालनद्वारासंचालितकर्मशालामेंसहायकनिदेशकउद्यानविजयपंडित,जीविकाकेप्रबंधक,जिलासहकारितापदाधिकारीआनंदकुमारचौधरी,कृषिवैज्ञानिकडॉ.विपुलकुमारमंडल,डॉ.मनोजकुमार,डॉ.ज्ञानचंद,सभीबीएओ,कृषिसमन्वयक,किसानसलाहकार,सहायकतकनीकीप्रबंधक,पैक्सअध्यक्ष,प्रगतिशीलकिसानमौजूदथे।