Category Hierarchy

जागरणसंवाददाता,फर्रुखाबाद:सब्जीकाराजाकहाजानेवालाआलूकिसानोंकोफिरदगादेगयाहै।कोल्डस्टोरेजमेंभंडारितएकपैकेट(50किलो)आलूकाभाव350से400रुपयेमिलरहाहै।इसमेंभंडारणशुल्क,वारदानावकिरायानिकालकरकिसानोंकोलागतमूल्यभीनहींमिलपारहाहै।इससेनिकासीकीरफ्तारधीमीहै।

गतवर्ष18नवंबरकोआलूकीबिक्रीशुरूहुईतोकिसानमंदीकीमारसेपरेशानहोगएथे।फरवरीवमार्च2021मेंकुछस्थितिसुधरीतोकिसानोंकोराहतमिली,लेकिनअधिकतरकिसानोंनेमंदीकेचलतेअच्छाभावमिलनेकीआसमेंपहलेहीआलूकोल्डस्टोरेजमेंभंडारितकरदियाथा।अबआलूकाभावफिरदगादेगयाहै।प्रतिपैकेटभंडारणशुल्क105रुपयेहै।वारदाना,लोडिगखर्चआदिमिलाकरप्रतिपैकेट200रुपयेसेअधिककाखर्चआताहै।इसकारणकिसानोंकोएकपैकेटपर200रुपयेभीनहींमिलरहेहैं।कुछकोल्डस्टोरेजमालिकोंनेकिसानोंकोपहलेहीबारदानावऋणदेरखाहै,इससेउनकीभीचिताबढ़ीहै।बाहरकीमंडियोंमेंमांगनहोनेसेबढ़ीसमस्या

'गतवर्षोंकीतरहइसवर्षबाहरकीमंडियोंसेमांगनहींआरहीहै।इसीवजहसेआलूकाभावनहींबढ़पारहाहै।यदियहीस्थितिरहीतोभावऔरगिरसकताहै।किसानोंकोइसबारलंबाघाटाहोगा।सरकारकोदखलदेकरमूल्यमेंसुधारकाप्रयासकरनाचाहिए।'

शिवपालसिंह,निवासीगांवबलियानगलाआलूकेदगादेनेसेकर्जउतारनामुश्किल

'अधिकांशकिसानसहकारीसमितिवबैंकोंसेकर्जलेकरआलूकीबोवाईकरतेहैं,लेकिनभावनमिलनेकेकारणकर्जउतारनामुश्किलहोगयाहै।सरकारकोहस्तक्षेपकरआलूकिसानोंकीमददकरनीचाहिए।आलूकानिर्यातसरकारकराए,तभीराहतमिलेगी।'

रिकूराजपूत,निवासीगांवपसनिंगपुर