Category Hierarchy

महेशकुमारवैद्य,रेवाड़ी

भाजपाकेवरिष्ठनेताऔरपूर्वकेंद्रीयकृषिमंत्रीहुकमदेवनारायणयादवशुक्रवारकोकुंडलीबार्डरपरहुईदलितयुवककीनिर्ममहत्यासेबेहदखफाहैं।हुकमदेवकामाननाहैकिकिसानऐसीबर्बरतानहींकरसकते।खुदकोआंदोलनकारीबताकरऐसाजघन्यअपराधकरनेवालोंकेचेहरेसेनकाबहटनाचाहिए।हुकमदेवबार्डरपरबैठेकृषिकानूनविरोधियोंकोनसीहतदेनाभीनहींभूले।उन्होंनेकहाकिमोदीसरकारनेनएकृषिकानूनबनाकरलघुऔरसीमांतकिसानोंतथाखेतीहरमजदूरोंकीचिताकीहै।प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीकीपहलसेकरोड़ोंकिसानों-खेतीहरमजदूरोंकोलाभमिलेगा।मोदीऐसेआर्किटेक्टहैं,जोगांधी,डा.लोहियाऔरदीनदयालउपाध्यायकेकार्यकोआगेबढ़ारहेहैं।

शनिवारकोजागरणसेबातचीतमेंखेती-किसानीकेविशेषज्ञकहेजानेवालेहुकमदेवनेकहाकिदेशमेंलघु-सीमांतकिसानोंकीसंख्यालगभग83फीसदहै।एकहेक्टेयरतककेभू-स्वामीसीमांतऔरदोहेक्टेयरतककेभूस्वामीलघुकिसानकहलातेहैं।किसानोंऔरक्षेत्रविशेषकेनजरिएसेदेखनेकीजरूरतनहींहै।बिहारजैसेराज्योंमेंलघु-सीमांतकिसानोंकीसंख्या95प्रतिशतसेअधिकहै,जबकिहरियाणा,पंजाबऔरपश्चिमीउत्तरप्रदेशमेंयहप्रतिशतइससेआधाभीनहींहै।मोदीकीसोचकोसंकीर्णताऔरक्षेत्रविशेषकेदायरेसेहटकरदेखनेकीजरूरतहै।भीड़काहिस्साबननेसेपहलेसमझें:

विरोधकाअधिकारलोकतंत्रमेंसभीकोहै,लेकिनभीड़काहिस्साबननेसेपहलेचीजोंकोसमझनाजरूरीहै।देशमेंदोतरहकेकिसानहैं।एकजोकेवलखेती-पशुपालनपरनिर्भरहैं,जबकिदूसरेवेहैं,जिनकेपासखेतीकेअलावाआयकेअन्यसाधनहैं।पंजाब,हरियाणाऔरपश्चिमीउप्रकेकिसानोंकेपासआयकेअतिरिक्तसाधनहैं।इनसेदूसरेराज्योंकीतुलनानहींहोसकती।लघुएवंसीमांतकिसानोंमेंभी50फीसदऐसेहैं,जोमजदूरीभीकरतेहैं।बिहार,मध्यप्रदेशऔरअन्यराज्योंसेयहांकेइलाकेमेंऐसेलाखोंश्रमिकप्रतिवर्षआतेहैं,जोयहांधानकीकटाईकेबादवहांजाकरअपनेखेतोंमेंकटाईकरतेहैं।मजबूतहोगीग्रामीणअथव्यवस्था:

मोदीसरकारनेछोटेकिसानोंकीबड़ीमददकीहै।प्रतिवर्ष6हजाररुपयेदेनेकाफैसलाबड़ेबदलावकेलिएहै।इससेग्रामीणअर्थव्यवस्थामेंजानआएगी।मोदीविरोधियोंकीतकलीफयहीहै।नएकृषिकानूनोंकेबादकिसानअपनेस्तरपरयाएफपीओबनाकरकहींभीउत्पादबेचसकेंगे।उन्हेंगांवकेपरंपरागतव्यापारीकोफसलबेचनेऔरअपनीछोटीसीजोतकाअच्छामुनाफापानेकेलिएकांट्रेक्टखेतीजैसेविकल्पमिलेंगे।मंडीसमितियोंकेयहांफसललानेकीबाध्यताखत्महोगी,लेकिनमंडियोंमेंफसलबेचनेकाविकल्पमौजूदरहेगा।डीजलसेखेतीवालेकीचिताकरें:

हुकमदेवनेकहाकिजहांनहरहैवहांकृषिउत्पादनलागतनाममात्रकीहै।बिजलीआधारिकट्यूबवेलसेभीसिचाईसस्तीपड़तीहै,लेकिनहमेंयहनहींभूलनाचाहिएकिकईराज्योंमेंजटिलपरिवहनप्रणालीकेबीचमहंगेडीजलकेसहारेखेतीहोरहीहै।मोदीनेऐसेकिसानोंकीचिताकीहै।अबसमयआगयाहैकिकिसानमिलकरएग्रोक्लीनिकखोलें,एग्रोबिजनेसमाडलअपनाएंवअपनेभले-बुरेकीखुदचिताकरें।