Category Hierarchy

गुंजनमिश्रा।इसवर्षमार्चकामहीनाबीते121वर्षोंमेंसबसेगर्मरहाहै।मार्चमेंदेशभरमेंअधिकतमतापमानसामान्यसे1.86डिग्रीसेल्सियसज्यादारहा।इसकादुष्प्रभावअनाजउत्पादनपरसबसेज्यादापड़रहाहै।इसकारणसेगेहूं,गन्ना,दाल,चना,धान,सब्जी,मसालेआदिकाउत्पादनघटरहाहै।तापमानमेंवृद्धिहोनेसेसमयकेपूर्वफसलोंकेपकनेकेकारणप्रत्येकअनाजकादानाकमजोरहोरहाहै।फसलोंमेंदो-दोबारसिंचाईकरनीपड़रहीहै।यहीहालउनतमामपेड़ों-पौधोंकाहै,जोफलदेतेहै।

खेतोंकीमिट्टीसेनमीऔरजैविककार्बनघटनेकेकारणअनाजोंवफलोंमेंउत्पादोंकाआकारघटरहाहै।इसकेअलावारासायनिकखादवकीटनाशकोंकाहाइब्रिडबीजकेचलतेभोजनजहरीलाहोगयाहैऔरकिसानोंकोआर्थिकतौरपरकमजोरकररहाहै।ऐसेमेंआगामीकुछवर्षोंमेंकिसानोंकीआमदनीकोदोगुनाकरनाभीबड़ीचुनौतीहोगी।हाइब्रिडबीजकिसानकोहरसालखरीदनापड़ताहै,क्योंकिज्यादाउत्पादनकेचलतेवहजिसदेसीबीजकोसंरक्षितकरकेबोतेरहेहैं,उनकोपूरीतरहसेअधिकउत्पादनकालालचऔरनीतियोंकेमाध्यमसेनष्टकियाजारहाहै।हाइब्रिडबीजऔरसिंथेटिकखाद्यपदार्थोंकोतैयारकरनेवालीबहुराष्ट्रीयकंपनियोंकेव्यापारमेंमुनाफेकेलिएहमारीजैवविविधताकोनष्टकियाजारहाहै।इसलिएअबसमयआचुकाहैकिविश्वकोबड़े-बड़ेउद्योगपतियोंकेचंगुलसेनिकालकरगांधीकेसिद्धांतोंकापालनकरतेहुएप्रकृतिकेनियमोंकोअपनाकरचलाजाए,तभीइसपृथ्वीपरजीवनसंभवहोसकेगा।इसकामकोकरनेकेलिएदेशकेनीतिनिर्माताओंकोचाहिएकिधरतीकीरक्षाकेलिएकुछविशेषनीतियोंकोमाडलकेतौरपरतैयारकियाजाय।

देशकेअन्नदाताओंकेसामनेजोसमस्याएंआरहीहैं,उनसेवहकैसेपारपासकेंगे,इसबारेमेंविचारकरनाहोगा।तभीइसधरतीकेजीवधारियोंकोभोजनकीउपलब्धतासुनिश्चितहोसकेगी।इसकेअलावा,खेतोंमेंजैवविविधताकीसमृद्धिहोनेकेकारणदेशकेलोगोंकोजीवंतजलवहवामिलनेकेकारणशारीरिकवमानसिकस्वास्थ्यलाभकेचलतेवहप्रसन्नहोंगे।दूसराकिसानोंवखेतिहरमजदूरोंकोउनकेखेतखलिहानकेअनुसारनीतियोंकीव्यवस्थाहोसकेगीजिससेदेशकाकार्बनफुटप्रिंटकमहोगा।अत:बढ़तेवैश्विकतापमानकोरोकनेमेंभीमददमिलसकतीहै।इसकेअलावाखेतोंसेकिसानोंकेमित्रमेढक,केकड़े,केंचुएआदिनष्टहोतेजारहेहैं।वहभीपुन:खेतोंमेंलौटसकतेहैं।

हालांकिखेतीमेंबढ़तेहुएधनकाप्राकृतिकचमत्कारआश्चर्यजनकहै,परंतुसरसोंकेएकपौधेकाअध्ययनकरनेपरपताचलाकिउसकेएकदानेसेउपजेपौधेमें12शाखाएंऔसतननिकलतीहैंऔरएकशाखामें300सेअधिकफलियांआतीहैं।यहविचारणीयहैकिएकबीजसेहजारोंगुनाज्यादापैदावारहोनेकेबावजूदकिसानकर्जदारहै,आत्महत्याकरताहै।यहीकारणहैकिबड़े-बड़ेउद्योगपतिकृषिमेंअपनानिवेशकरनेकोतैयारहैं।

बुंदेलखंडमेंकिएगएएकसर्वेकेअनुसाररबीकीफसलमेंएकएकड़मेंऔसतन25क्विंटलगेहूंहोताथा,लेकिनआजयहघटकर20क्विंटलतकहीरहगयाहै।यहीहालचनेकीफसलकाहैजिसमें30से35प्रतिशत,धानकेउत्पादनमें10से15प्रतिशतकी,सरसोंऔरजौमें30प्रतिशतकीकमीपाईगईहै।महजकुछवर्र्षोंपहलेतकहराचना15अप्रैलतकनिकलताथा,लेकिनअबमार्चकेअंततकसूखजाताहै।स्पष्टहैकिफसलकोजोसमयमिलनाचाहिए,वहउचितसमयअबनहींमिलपारहाहै।यहीहालदेशकेअन्यराज्योंमेंहै।गन्नाकिसानोंकाकहनाहैकिगन्नेकेभारमें15-20प्रतिशतकीकमीहोगईहै।केवलअनाजकाउत्पादनहीनहीं,फलोंकीभीपैदावारप्रभावितहुईहै।उदाहरणकेलिएआममेंफूलयाबौरतोखूबआई,लेकिनफलनहींआए।यहीहालसब्जियोंकाहोरहाहै।देसीहीनहीं,हाइब्रिडलौकी,तुरई,भिंडी,करेला,कद्दू,खीरा,तरबूज,खरबूजआदिएवंमसालोंमेंसौंफ,जीरा,धनियाकाउत्पादनभीप्रभावितहुआहै।

यदिसमयरहतेइसदिशामेंकारगरप्रयासनहींकिएगएतोबीजोंकीबोआईकेसमयकोलेकरदेशकेकिसानोंकीहजारोंवर्षोंकीमेहनतजलवायुपरिवर्तनकेकारणनष्टहोजाएगी।पहलेकिसानोंकेलिएबाढ़,सुखाड़हीमुसीबतहुआकरतीथीजिसकाकृषिजलवायुक्षेत्रकेअनुसारकिसानअनुमानभीलगालेताथाएवंजीवन-यापनकाप्रबंधकरलियाकरताथा।लेकिनआजसबकुछअनिश्चितहोचुकाहै।इसकेअलावा,फसलोंवपेड़पौधोंजोनाइट्रोजन,आक्सीजन,कार्बनडाईआक्साइड,नमीआदिप्रकृतिसेलेतेहैंवहभीजलवायुपरिवर्तनकेकारणप्रभावितहुआहै।इससेअनाजों,सब्जियों,फलोंकीपौष्टिकतामेंकमीएवंस्वादमेंभीअंतरआयाहै।

पहलेजबकृषिऔरकिसानबाजारसेनहींजुड़ेथेयानीजबखेतीसेठकीनहोकरपेटकेलिएहोतीथी,तबकिसीभीतरहकीप्राकृतिकआपदाकेकारणकेवलश्रमजायाहोताथा,लेकिनआज10प्रतिशतश्रमएवंकिसानकी90प्रतिशतपूंजीबाजारकेमाध्यमसेबर्बादहोजातीहै।इससेकिसानआर्थिकतौरपरटूटजाताहै।इसलिएमौसमकीआपदाओंसेकिसानकीभरपाईकरनेकेलिएआजसरकारकोचाहिएकिआवर्तनशीलअर्थशास्त्रपरआधारितकृषिकोबढ़ावादे।