Category Hierarchy

मेरठ,जागरणसंवाददाता। पश्चिमीउप्रकामिजाजप्रदेशकीचुनावीदिशाबदलेगा।अखिलेशयादवऔरजयंतसिंहकीअगुआईमेंगठबंधनकीपहलीरैलीमेंसाफहैकिकिसानोंकोसाधनेकीहोड़तेजहोरहीहै।कृषिकानूनवापसहोनेकेबादगठबंधनजहांकिसानोंकापाराकमनहींहोनेदेनाचाहता,वहींभाजपाकानूनवापसीकाराजनीतिकफायदाउठानेमेंजुटीहै।

रैलीमेंछायारहाकिसानोंकामुद्दा

2022केविसचुनावोंसेपहलेअखिलेश-जयंतकीपहलीसंयुक्तरैलीमेंकिसानोंकामुद्दाछायारहा।अखिलेशनेकिसानोंकेपूर्वप्रधानमंत्रीचौ.चरणसिंहएवंबाबाटिकैतकाजिक्रकरतेहुएनब्जछुआ,वहींकृषिआधारितअर्थव्यवस्थाकेविशेषज्ञरहेडा.राममनोहरलोहियाकीचर्चाकरसाफसंदेशदिया।2014लोकसभाचुनावोंकेबादराजनीतिकरूपसेहाशिएपरपहुंचचुकारालोदकिसानआंदोलनकेसहारेअपनीसियासीजमीनकोहरा-भराकरनेमेंजुटाहै।2019लोसचुनावोंमेंअखिलेश-जयंतनेहाथमिलायाथा,लेकिनपरिणामनिराशाजनकरहा,लेकिनअबस्थितिबदलीहै।चौ.अजितसिंहकेनिधनकेबादजयंतकेलिएसहानुभूतिकीलहरमानीजारहीहै।वहींभाकियूकेआंदोलनसेरालोदनेअपनीराजनीतिकजमीनबनाली।

रालोदकोबड़ीसफलता

पंचायतचुनावोंमेंरालोदकोबड़ीसफलतामिली।वहीं,भाजपालगातारकिसानोंकेबीचसंपर्कअभियानचलारहीहै।मोदी-योगीकीनीतियोंएवंकल्याणकारीयोजनाओंकेअलावापार्टीपिछलेचारसालमेंरिकार्डगन्नाभुगतान,चीनीमिलोंकेविस्तार,किसानसम्माननिधिएवंभूमिपरीक्षणसमेतकईकामगिनवारहीहै।राजनीतिकविशेषज्ञपश्चिमउप्रकीसियासीचाबीकिसानोंकेहाथमेंमानरहेहैं।उधर,कांग्रेसऔरबसपानेअपनेपत्तेनहींखोलेहैं।फिलहाल,पश्चिमीउप्रमेंकिसानोंकामूडभांपनाआसाननहींहोगा।

सीटोंपरनहींखोलेगएपत्ते

सपा-रालोदगठबंधनकीपहलीरैलीहोगई,लेकिनसीटोंकेबंटवारेकोलेकरकोईतस्वीरसामनेनहींआई।रैलीमेंसपाइयोंएवंरालोदकार्यकर्ताओंकीसंख्यातकरीबनसमानथी।दोनोंदलोंकेसमर्थकगठबंधनकीडिजाइनकेबारेमेंसुननाचाहरहेथे,लेकिनअखिलेश-जयंतनेपत्तेनहींखोले।जाटबहुलसीटोंपररालोदकादावामजबूतबतायाजारहाहै,जबकि2007विसचुनावोंमेंपश्चिममेंबड़ीसंख्यामेंसीटेंजीतनेवालीसपाकेलिएसीटोंकाचयनमुश्किलहोगा।कयासहैकिरालोदनेकरीब35सीटोंकीमांगकीहै,जबकियहांपरपांचसालसेचुनावीतैयारीमेंजुटेसपाईचेहरोंकोसंभालनेकीचुनौतीहोगी।हालांकिरालोदप्रमुखजयंतसिंहनेकहाहैकिगठबंधनबड़ेमनकेसाथकियाजाताहै,जिसमेंसीटोंसेज्यादामहत्वसमन्वयकाहै।उधर,गठबंधनकीचालदेखतेहुएभाजपाअपनेपत्तेखोलेगी।