Category Hierarchy

राकेशसिन्हा/विक्रमचौहान,लोहरदगा:लोहरदगाकीपहचानयहांकीखेतीऔरखेतीकरनेवालेकिसानोंसेहै।यहांकेकिसानअपनीमेहनतसेलोहरदगाकोएकपहचानहीनहीं,बल्किरोजगारकारास्ताभीदिखातेआएहैं।ईखकीखेतीकेरूपमेंलोहरदगाकीपहचानहै।ईखकीखेतीकरलोहरदगाजिलेकेविभिन्नप्रखंडोंकेकिसानआत्मनिर्भरहोरहेहैं।लोहरदगाकेभंडरा,सदरऔरसेन्हाप्रखंडमेंईखकीकाफीखेतीहोतीहै।लोहरदगामेंउत्पादितहोनेवालाईखदूसरेप्रदेशोंमेंबेचाजाताहै।किसानोंकेलिएयहएकएकबेहतरकृषिउत्पादहै।लोहरदगाजिलेकेबरही,एकागुड़ी,मसमानों,दत्तरी,ईटा,चटकपुर,ओयना,जोरी,सढ़ाबे,भुजनियांआदिस्थानोंमेंकिसानहजारोंएकड़मेंईखकीखेतीकरतेहैं।किसानोंकेलिएयहएकबेहतरमुनाफेवालाउत्पादहीनहींहै,बल्किआयकाबेहतरमाध्यमभीहै।सबसेदिलचस्पबातयहहैकिईखकीखेतीकेसहारेलोहरदगाकेकिसानोंकेलिएआर्थिकमजबूतीकाद्वारभीसालोंभरखुलारहताहै।कमपानी,कमपूंजी,कममेहनतकेकारणकिसानईखकीखेतीकोपसंदकरतेहैं।लोहरदगाजिलेसेईखरांची,जमशेदपुर,धनबाद,चतरा,राउलकेलाआदिस्थानोंमेंभेजाजाताहै।लोहरदगामेंहरसाललगभग7से8हजारमिट्रिकटनसामान्यरूपसेईखकाउत्पादनहोताहै।किसानोंकोईखसेकाफीफायदाहै।किसानइसखेतीकेसहारेआत्मनिर्भरहोरहेहैं।लोहरदगामेंईखकीखेतीकिसानोंकोदूसरेखेतीसेनुकसानसेबचातीहै।लोहरदगामेंअबलगभगपांचसौकिसानईखकीखेतीकरतेहैं।इनकिसानोंद्वाराअपनीजमीनपरहीनहीं,बल्किदूसरेकिसानोंकीजमीनकोभीलीजमेंलेकरईखकीखेतीकीजातीहै।ईखबेचनेकोलेकरइन्हेंपरेशानभीनहींहोनापड़ताहै।व्यापारीयहांसेईखखरीदकरलेजातेहैं।लोहरदगामेंयदिईखकेकारोबारकीबातकरेंतोहरसाल15करोड़केलगभगईखकाकारोबारआरामसेहोताहै।सिर्फसेन्हाकेबरही,ईटा,अंबेरा,भंडरा,बेदाल,मसमानोंआदिक्षेत्रोंमेंलगभग10करोड़केईखकाकारोबारकियाजाताहै।लोहरदगामेंईखकीखेतीरोजगारऔरआत्मनिर्भरताकाबेहतरमाध्यमहै।ईखकीखेतीसेयहांकेकिसानोंकोआर्थिकरूपसेमजबूतीमिलीहै।आनेवालेसमयमेंईखकीखेतीआर्थिकरूपसेऔरभीमजबूतहोनेमेंफायदादेगी।लोहरदगाजिलेकेकईकिसानऐसेहैं,जोछोटेपैमानेपरईखकीखेतीकरतेहैं।इनकेलिएभीपरिवारचलानेमेंईखकीखेतीसहायकसाबितहोरहीहै।किसानोंकेलिएराहतकीबातयहहैकिइसखेतीकेनतोबहुतज्यादाप्रशिक्षणकीजरूरतहोतीहैऔरनहीईखबेचनेकोलेकरपरेशानहीहोनापड़ताहै।