Category Hierarchy

संवादसूत्र,कुर्सेला(कटिहार):कुर्सेलाप्रखंडक्षेत्रकेपत्थरटोलाकेकिसानोंकादुख-दर्दसुननेवालाकोईनहींहै।किसानोंकीउपजाऊजमीनगंगावकोसीकेभीषणकटावमेंप्रत्येकवर्षसमारहीहै।खेतकटनेसेकईकिसानअबमजदूरीकरनेकोविवशहैं।किसानोंकादुख-दर्दसुननेवालाकोईनहींहै।किसानोंकाकहनाहैकिहमलोगोंकेपासथोड़ीबहुतजोभीउपजाऊजमीनथी,वहधीरे-धीरेप्रत्येकवर्षगंगावकोसीमेंसमातीजारहीहै।अबपरिवारकेगुजर-बसरपरभीआफतहै।प्रखंडकेबालूटोला,पत्थरटोलाखैरिया,तीनघरियाबहियारकेनिचलेइलाकेमेंकटावकेकारणसैकड़ोंएकड़उपजाऊजमीनगंगा-कोसीमेंसमागईहै।

किसानोंकाकहनाहैकिइसओरनातोकिसीजनप्रतिनिधिकाध्यानहैऔरनाहीप्रशासनध्यानदेरहीहै।जबकिप्रत्येकवर्षबाढ़कापानीपत्थरटोलागांवमेंप्रवेशकरजाताहै।कटावकोरोकनेकेलिएप्रशासनिकस्तरसेसिर्फखानापूर्तिकेलिएकटावस्थलकानिरीक्षणकरकटावरोकनेकाआदेशदेदेतेहैं।लेकिनआदेशकाकहांतकपालनहोताहै।इसकेबारेमेंजानकारीनहींलेतेहैंऔरअपनेकार्यमेंव्यस्तहोजातेहैं।ऐसेमेंहमकिसानोंकाक्याहोगा।

पत्थरटोलामेंदर्जनोंएकड़मेंलगीहरीसब्जीकीफसलकटावकीभेंटचढ़गई।वहीकिसाननंदलालमहतो,रामधारीमहतो,विलासमहतो,राजेशमहतो,आनंदीमहतो,चानोमहतो,देवन,चमकलाल,महेंद्र,भूषणशिवम,लक्ष्मणसहितदर्जनोंग्रामीणोंनेबतायाकिइसवर्ष10एकड़जमीनमेंहरीसब्जीलगाएथे।सब्जीकापौधाभीतैयारहोचुकाथा।इसवर्षआईप्रलयंकारीबाढ़एवंकटावमेंखेतकटकरनदीमेंसमागई।लेकिनजनप्रतिनिधिकोसिर्फवोटसेमतलबहै।आजतककटावकीसमस्याकीओरकिसीजनप्रतिनिधिनेध्याननहींदिया।केवलचुनावकेसमयबड़े-बड़ेवादेकरतेहैं।लेकिनआजतककटावकीसमस्याज्योंकीत्योंबनीहुईहै।

भूषणशिवमनेकहाकिहमलोगोंकेउपजाऊजमीनसेअबनदीबहरहीहै।अबहमलोगोंकोपरिवारकाभरणपोषणकरनेकीसमस्याआगईहै।किसानोंपरमानोंमुसीबतकापहाड़टूटपड़ाहै।अपनेघरकीसारीपूंजीसहितमहाजनसेकर्जलेकरकिसानोंनेफसललगायाथा।लेकिनगंगाकोसीकेभीषणकटावकेबादजमीनगंगाकोसीमेंसमागई।महाजनसेकर्जलेकरसब्जीकीखेतीकीथी।अबतोफसलकीजगहसिर्फपानीनजरआरहीहै।किसानोंकीचिंतासेकिसीकोकोईमतलबनहींहै।