Category Hierarchy

संवादसहयोगी,इटाढ़ी(बक्सर):सोमवारकीसुबहआठबजेस्थानीयप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रइटाढ़ी,प्रभारीचिकित्सापदाधिकारीडॉ.श्यामबाबूरजकसफाईकर्मियोंसेहॉस्पिटलकीसफाईकराकरओपीडीमेंबैठनेजारहेथे।एक-दोमरीजोंकाआनाशुरूहुआथा।बच्चोंकेटीकाकरणकाटीकासुरक्षितरखनेकेलिएबनाशीतगृहएवंकम्प्यूटरकक्षकादरवाजाकईमहीनोंसेटूटापड़ाहै।ओपीडीमेंमरीजोंकेलिएलगापानीकाआरओमहीनोंसेखराबहै।जिससेमरीजचापानलकापानीपीनेकोमजबूररहतेहैं।डॉ.रजकनेबतायाकिस्वास्थ्यकेन्द्रपरएकचिकित्साप्रभारीएवंतीनचिकित्सकजिसमेंएकमहिलाचिकित्सककापदहै।जबकि,स्वास्थ्यकेंद्रमेंफिलहालप्रभारीएवंएकसर्जनडॉ.श्रीनिवासउपाध्यायकेंद्रमेंपदास्थापितहैं।महिलाचिकित्सककेअभावमेंएएनएमहीप्रसवकाकार्यकरतीहै।इसकेंद्रपरकरीबचारसेछहगर्भवतीमहिलाएंप्रसवकेलिएप्रत्येकदिनपहुंचतीहैं।वहीं,रोगीरजिस्ट्रेशनकाउण्टरपरमंचनसिंहमौजूदथे।जबकि,फार्मासिस्टराजीवरंजनऔरऑपरेटरनागेन्द्रपाठकअपनाकार्यशुरूकरचुकेथे।दिनकेसाढ़ेनौबजेजबस्वास्थ्यप्रबन्धककेकमरेमेंप्रवेशकियागयातोउनकीकुर्सीखालीमिली।जबकि,उसीकमरेमेंप्रभारीकाचेंबरभीहै।इससंबंधमेंपूछेजानेपरअस्पतालकर्मियोंनेबतायाकिस्वास्थ्यप्रबन्धकसेमुलाकातकरनाटेढ़ीखीरहै।आने-जानेकासमयकिसीकोपतानहींरहता।यहांपंखा,कुर्सी,पीनेकेपानीसहितमूलभूतसुविधाओंकीसमस्याबनीरहतीहै।वहीं,प्रत्येकसोमवारऔरगुरुवारकोबंध्याकरणशिविरकाआयोजनकियाजाताहै।जिसमेंडॉ.श्रीनिवासउपाध्यायऑपरेशनकेकार्यकरतेहैं।इसजगहचिकित्सककीसंख्याकमहोनेसे24घण्टेड्यूटीकरनीपड़तीहै।वर्षोंसेमहिलाचिकित्सककाअभावकरीबचारसालसेइसस्वास्थ्यकेन्द्रपरमहिलाचिकित्सककाअभावबनाहुआहै।नतीजाप्रसवकाकामनर्सकेभरोसेरहताहै।जरूरतपड़नेपरपुरुषचिकित्सककीसहायतालीजातीहै।प्रखंडकेदूर-दराजसेआईमहिलाओंकाकहनाहैकिऔरतोंकाइलाजपुरुषसेकरानापड़रहाहै।ऐसेमेंकईसमस्याएंआतीहैं।जबकिप्रखंडक्षेत्रकाफीलंबा-चौड़ाहै।नवजातकेलिएवार्मरमशीनउपलब्धप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रकेप्रसूतिवार्डकेपासवार्मरमशीनउपलब्धहै।जिसमेनवजातशिशुओंकोरखकरइलाजकियाजाताहै।प्रभारीडॉ.रजकनेबतायाकिइसमशीनमेंबच्चोंकोएकनियमिततापमानपररखाजाताहै।ताकि,बच्चोंकेसेहतकोसुधाराजासके।कहतेहैंलोग-देवकुलीगांवसेइलाजकरानेआईसुनैनादेवीनेबतायाकिमहिलाचिकित्सककानहींहोनाबड़ीसमस्याहै।वर्षोंसेइससमस्याकीओरप्रशासनकाध्याननहींजानाचिन्ताकाविषयहै।जल्दहीयहांमहिलाचिकित्सककीप्रतिनियुक्तिकरनीचाहिए।-कुकुढ़ासेआईशितमीदेवीकेमुताबिकप्रसूतिमहिलाओंकाइलाजतोसमयसेहोजारहाहै।नास्ता-खानाभीसमयानुसारमिलजारहाहै।लेकिन,महिलाचिकित्सककीआवश्यकताअधिकहै।प्रसूतिमहिलाओंकोएएनएमकेभरोसेछोड़नामरीजकीजिदगीसेखिलवाड़करनाहै।-देवकुलीधर्मपुरासेआएसत्येन्द्रकुमारनेकहाकिओपीडीमेंपानीपीनेकेलिएआरओमशीनलगायागयाहै।लेकिन,यहमशीनकईमहीनोंसेखराबपड़ीहै।गर्मीकामौसमहोनेसेमरीजपरेशानहोजातेहैं।चापानलसेभीकभी-कभीखराबपानीनिकलनेलगताहै।

बयान:चिकित्सककीसंख्यामेंकमीहोनेकेबावजूदभीयहांइलाजमेंकोईकोताहीनहींबरतीजातीहै।कभी-कभीदो-तीनदिनतकलगातारड्यूटीकरनीपड़तीहै।उपलब्धसंसाधनोंकेसहारेसबकाउपचारकियाजाताहै।नियमितटीकाकरणऔरबंध्याकरणचलतारहताहै।जरूरतमंदमरीजोंकेलिएएम्बुलेंसउपलब्धकरायाजाताहै।डॉ.श्यामबाबूरजक,प्रभारीचिकित्सापदाधिकारी,इटाढ़ी