Category Hierarchy

जागरणसंवाददाता,बैरिया(बलिया):डीजलकेबढ़तेदामोंसेआमआदमीसंगकिसानभीपरेशानहैं।किसानोंकाकहनाहैकिइससेखेतीपरअसरपड़रहाहै।खेतोंकीजोताईऔरसिचाईकरनेमेंपहलेसेज्यादाखर्चकरनापड़रहाहै।कभीसूखातोकभीबाढ़कीविभीषिकासेतंगरहनेवालेकिसानोंकेलिएडीजलकेदामोंमेंबढ़ोतरीभीपरेशानीमेंडालनेवालीहै।महंगाईसेतंगकिसानअबलागतकेअनुपातमेंमुनाफानहींकमापारहेहैं।इसमेंबटाईदारकिसानोंकोतोऔरभीज्यादापरेशानीहै।बहुतसेकिसानोंकामतहैकिसरकारकोइसबिदुपरगंभीरतासेविचारकरनाचाहिए।किसानोंकोडीजलपरछूटकीव्यवस्थाकरनीचाहिएताकिखेतीमेंलागतकमआए।क्याकहतेहैंकिसान

-खेतीकेलिएट्रैक्टर,कल्टीवेटर,रोटावेटरऔरदूसरेमशीनोंकाइस्तेमालहोताहैं।उसमेंडीजलकीखपतहोतीहै।अगरकिसानोंकोडीजलमेंराहतमिलेतोलागतमेंथोड़ीकमीआएगी।

-देवदयालसिंह,वाजिदपुर

डीजलकेदामबढ़नेसेखेतीकीलागतकाफीबढ़जाएगीइससेट्रैक्टरकीजोताईसेलेकरसिचाईतकऔरफसलकीढुलाईतककेखर्चमेंइजाफाहोनाहोगयाहै।सरकारकोइसपरगभीरतासेविचारकरनाचाहिए।

-ओमप्रकाशसिंह,शिवालमठिया

-किसानलगातारप्राकृतिकआपदाओंसेजूझरहेहैं।इसीमेंडीजलकेदामोंनेकिसानकीकमरहीतोड़दीहै।इससेखेतीपरभीव्यापकअसरपड़रहाहै।

-अशोकयादव,रामपुरकोड़रहा

सरकारकोडीजल-पेट्रोलकादामकमकरनाचाहिए।महंगाईकेकारणबहुतसेकिसानखेतीकरनाबंदकररहेहैं।उन्हेंलागतकेअनुपातमेंमुनाफानहींमिलरहाहै।

-अरूणसिंह,वाजिदपुर