Category Hierarchy

-आखिरकारकिसेमानाजाएगुनहगार

फोटोनंबर-17एसयूपी-1,2

भरतकुमारझा,सुपौल:कोसीकेकारनामोंसेत्रस्तसुदूरइलाकेमेंभीविकासकीकिरणपहुंची।बदलावदिखा,नित्यनयेआयामगढ़ेजारहेहैं।निरंतरप्रक्रियाकेतहतहमेशाकुछनकुछनयादेखनेकोमिलतारहाहै।लेकिनकोसीकेकर्णधारोंकोसेहतकीचितानहींसतारही।बड़े-बड़ेभवनतोबनादिएगएलेकिनसुविधाएंनदारद।सुपौलकाअस्पतालअंग्रेजोंकेजमानेमेंवाल्सहास्पीटलहुआकरताथा।लोगोंकोउसवक्तकेलिहाजसेतमामसुविधाएंमिलाकरतीथी।जबअनुमंडलअस्पतालहुआतोभीवर्षोंतकलोगोंकाइसपरभरोसाहुआकरताथा।लोगभरोसेकेसाथअस्पतालआतेऔरस्वस्थहोकरलौटतेथे।लेकिनसमयकेअंतरालमें

सबकुछउलटताचलागया।सरकारेंबदलीअस्पतालकाकायाकल्पहुआ।लेकिनव्यवस्थाअपेक्षाओंपरखरीनहींउतरसकी।अभीदेखनेमेंएकबड़ाअस्पतालकास्वरूपऔरसुविधाएंआजभीरेफरलवाली।अन्यअनुमंडलीयअस्पतालोंकेभीरंगरूपबदले,राजकीयऔषधालय,कम्युनिटीहेल्थसेंटर,स्वास्थ्यकेंद्रोंकास्वरूपभीबड़ाहुआलेकिनकहींनयाभवनखंडहरहोगयाऔरअस्पतालशिफ्टनहींहुआतोकहींभवनसुंदरबननेकेबादभीसुविधाएंनदारद।सरकारीफाइलोंमेंतोअस्पतालबनगएलेकिनसरजमीनपरस्थितिकुछऔरहीहै।अबयहांएकबड़ासवालखड़ाहोताहैकिआखिरकारइनपरिस्थितियोंकेलिएकिसेगुनहगारमानाजाए।यहांकुछनमूनेप्रस्तुतकिएजारहेहैंजहांसरकारीराशितोकरोड़ोंमेंखर्चकरदीगईहैलेकिनइसकाकोईलाभआमलोगोंकोनहींमिलपारहाहै।

येहैलालगंजराजकीयऔषधालय

सरायगढ़-भपटियाहीप्रखंडकेलालगंजगांवमेंबनाराजकीयऔषधालयउद्घाटनसेपहलेजर्जरहोनेलगाहै।इसऔषधालयकेभवननिर्माणकाकार्य5वर्षपूर्वहीपूराहोचुकाहै।भवनबननेकेबादसेलालगंजसहितआसपासकेदर्जनोंगांवकेलोगोंकोआसजगीकिअबवहांबड़े-बड़ेडॉक्टरोंकीनियुक्तिहोगीतथामरीजोंकेलिएआवश्यकसुविधाएंउपलब्धरहेगी।लेकिनभवननिर्माणकार्यपूराहोनेकेबादजोआशाकासंचारलोगोंमेंहुआथावहअबबिल्कुलहीधूमिलहोताजारहाहै।इसराजकीयऔषधालयमेंअबतककोईडॉक्टरतोनहींआएलेकिनयहक्षतिग्रस्तहोनेलगाहै।रखरखावकेअभावमेंयहऔषधालयमवेशियोंकाबसेराबनचुकाहै।

खंडहरमेंतब्दीलभगवानपुरस्वास्थ्यकेंद्र

बसंतपुरप्रखंडकेग्रामीणक्षेत्रोंमेंस्थितस्वास्थ्यसेवाउपेक्षाकीशिकारहै।इसक्षेत्रकीबदहालस्वास्थ्यसेवाकोसंजीवनीकीदरकारहै।क्षेत्रकेलोगबदहालस्वास्थ्यसेवाकोलेकरचितितहैं।समयपरइलाजनमिलनेसेकईलोगबेमौतकालकाग्रासहोजातेहैं।हालातयेहैकिसीमावर्तीक्षेत्रकेलोगोंकोहजारोंरुपयेखर्चकरनेपालयानिजीक्लिनिककारुखकरनापड़ताहै।बसन्तपुरप्रखंडकेभगवानपुरपंचायतकेसाहेवानस्थितस्वास्थ्यकेंद्रकाभवनअबखंडहरकारूपलेचुकाहै।स्थानीयलोगोंकीमानेंतोवर्ष1994मेंइसकीनींवरखीगईथी।लेकिनआजतकलोगोंकोस्वास्थ्यसुविधानसीबनहींहोसकीहै।इतनाहीनहींभगवानपुरपंचायतमेंहीस्थितहोम्योपैथिकअस्पताललंबेसमयसेबंदपड़ाहै।चिकित्सकएवंअन्यकर्मियोंकेअभावमेंयहअस्पतालबंदहै।इसकेचलतेइसक्षेत्रकेलोगोंकोसुलभएवंसस्ताहोम्योपैथिकचिकित्सासेवंचितहोनापड़रहाहै।मालूमहोकिबिहारप्रदेशकांग्रेसकेपूर्वअध्यक्षस्व.राजेंद्रमिश्रएवंसहरसाजिलापरिषदकेचेयरमैनभूषणप्रसादगुप्ताकेकार्यकालमेंयहअस्पतालशुरूहुआथा।उससमयलोगोंकोयहांसुलभचिकित्सामिलरहीथी।लेकिनधीरे-धीरेचिकित्सकएवंकर्मियोंकेअभावमेंयहअस्पतालबंदहोगया।यहीस्थितिरतनपुरपंचायतमेंभीदेखनेकोमिलतीहै।पंचायतकेवार्डनंबर10मेंस्थितस्वास्थ्यउपकेंद्रअपनीबदहालीपरआंसूबहानेकोमजबूरहै।कभीयहउपकेंद्रआसपासकेकईगांवोंकेमरीजोंसेगुलजाररहताथा।लेकिनव्यवस्थाकेडंकसेयहभीअबबदहालहै।वर्षोंसेचिकित्सककीयहांदरकारहै।एएनएमकेभरोसेलोगोंकोस्वास्थ्यसुविधाकीखानापूर्तिकीजारहीहै।स्वास्थ्यउपकेंद्रकाभवनभीजर्जरहालहोचुकाहै।

निर्मलीअनुमंडलीयअस्पताल

12अक्टूबर2014कोअस्पतालकेउद्घाटनकीऔपचारिकतापूरीकीगईथी।प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रनिर्मलीकेकार्यरतचिकित्सकवकर्मियोंकीड्यूटीअनुमंडलअस्पतालमेंकीगईथीकिन्तुउद्घाटनकेदूसरेदिनसेहीसरकारीउदासीनतावचिकित्सककीकमीकेचलतेअस्पतालकोबंदकरदियागया।एकतरफसरकारआमजनतकस्वास्थ्यसेवापहुंचानेकेलिएकटिबद्धहोकरकरोड़ोंरुपयेखर्चकररहीहैतोदूसरीतरफअनुमंडलमुख्यालयमेंकरोड़ोंकीलागतसे100बेडवालातैयारअनुमंडलअस्पतालसेआमजनोंकोस्वास्थ्यसेवानहींमिलपारहीहै।अबतोस्थितियहहैकिअस्पतालकेकमरेकेशीशेवदरवाजेभीटूटनेलगेहैं।फिलहालअस्पतालरैनबसेराबनाहुआहै।

प्रतापगंजकाहेल्थकम्युनिटीसेंटर

ग्रामीणक्षेत्रोंमेंस्वास्थ्यसुविधाओंकीबढ़ोतरीकी²ष्टिसेप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रोंकोकम्युनिटीहेल्थसेंटरमेंतब्दीलकरनेकीयोजनाकेतहतप्रखंडमुख्यालयमेंकरोड़ोंकीलागतसेभवनबनकरतैयारहै।जोबीतेकईमहीनेसेअपनीसुविधाओंसेलैसहोकरक्षेत्रकेलोगोंकोस्वास्थ्यसेवाएंदेनेकीबाटजोहरहाहै।स्वास्थ्यविभागद्वाराप्रखंडमुख्यालयोंमेंस्थापितहोनेवालेसरकारीस्वास्थ्यकेंद्रोंकोकम्युनिटीहेल्थसेंटरनामदिएजानेकाप्रावधानकियागयाहै।इससेंटरमें30बेडकीसुविधाएंसहितअन्यआधुनिकसुविधाएंउपलब्धकरवाईजाएगी।यानिउक्तअस्पतालयासेंटर6बेडसेबढ़कर30बेडवालाहोजाएगा।जाहिरहैकिइसकेलिएसंसाधनोंमेंबढोतरीकीआवश्यकताहोगी।लेकिनपतानहींइसकेलिएकौनहैंजिम्मेवार?