Category Hierarchy

अंबेडकरनगरजिलेमेंसबकुछहोतेहुएभीस्वास्थ्यसेवाबीमारहै।उसेखुदहीउपचारकीजरूरतहै।डॉक्टरवसंसाधनोंकीकमीसेउपचारसेज्यादायहांरेफरशैलीपरअधिकभरोसाकरतेहैं।इससेजिम्मेदारीभीपूरीहोजातीहैऔररिस्कभी।ऐसातबहैजबयहांराजकीयमेडिकलकॉलेज,जिलाअस्पताल,सीएचसीवपीएचसीसमेतकुल39अस्पतालहैं।इसकेबादभीजिम्मेदारोंकीउदासीनतावसंसाधनोंकाअभावमरीजोंकादर्दकमनहींकरपारहाहै।जिलाअस्पतालमें37कीजगह21डॉक्टरहैंऔरदवाएं207केसापेक्ष230प्रकारकीहैं।सीएचसीवपीएचसीमें122केसापेक्षमहज68डॉक्टरहैं।इनअस्पतालोंमें145केसापेक्ष155दवाएंअनिवार्यरूपसेमौजूदहोनेकादावाविभागकाहै,लेकिनग्रामीणअस्पतालसेलेकरजिलाअस्पतालमेंरेफरकीव्यवस्थासबसेअधिकप्रभावीहै।सीएचसीसेप्राथमिकउपचारकरजिलाअस्पतालऔरयहांसेलखनऊकेलिएमरीजआएदिनरेफरकिएजातेहैं।कोईभीमरीजजिसेन्यूरोसर्जन,वेंटीलेटरकीजरूरतपड़ीतोउसकाट्रामासेंटरलखनऊरेफरहोनातयहै।आवश्यकजांचभीसहीढंगसेहोनेकीव्यवस्थापंगुहै।जिलाअस्पतालकीइमरजेंसीमेंअक्सरडॉक्टरोंकीयहआवाजसुनाईपड़तीहैकिज्यादादिक्कतहोतोरेफरकरालीजिए।आमजनकेस्वास्थ्यसेजुड़ासबसेअहममुददाचुनावीशोरमेंफिरगूंजरहाहै।प्रस्तुतहैअंबेडकरनगरसेरामशकलयादववआलापुरसेओंकारमिश्रकीरिपोर्ट-

---------------------------------------ग्रामीणक्षेत्रकेअस्पतालोंमेंबुनीयादीसुविधाएंभीनहीं

चिकित्सालयकीदुर्दशावचिकित्सकोंकीकमीहरचुनावमेंदशकोंसेमुद्दारही,लेकिनकोईसुधारनहींहुआ।हदतोतबहोगईजबगतविधानसभाचुनावकेदौरानआलापुरसेसपाप्रत्याशीचंद्रशेखरकन्नौजियाकीप्रचारकेदौरानराजेसुल्तानपुरकस्बामेंदिलकादौरापड़नेपरचिकित्सालयोंपरचिकित्सककीकमीवमाकूलव्यवस्थानहोनेसेइलाजकेलिएपड़ोसीजनपदआजमगढ़लेजातेसमयरास्तेमेमौतहोगई।इसकेबादभीजनप्रतिनिधिइसगंभीरसमस्याकोलेकरगंभीरनहींहुए।आलापुरक्षेत्रकीचर्चाकरेंतोयहांकेदोसामुदायिककेंद्रजहागीरगंजवआलापुरमेंहैं।आलापुरचिकित्सालयकानिर्माण1996मेंकरोड़ोंरुपयेकीलागतसेहोगया,लेकिनयहांपरशासननेअभीतकचिकित्सककीतैनातीहीनहींकी।रामनगरप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रवजिलाकेचिकित्सकोंकीवैकल्पिकव्यवस्थासेसंचालितहै।यहांकेछहअतिरिक्तस्वास्थ्यकेंद्रोंमेंपांचचिकित्सकविहीनहै।

लखनीपट्टीकेंद्रसंविदाचिकित्सककेभरोसेहै।यहांदोपदरिक्तहैं।मकरहीपरकोईचिकित्सकनहींहै।माडरमऊमेंदोहैंएककीकमीहै।जहांगीरगंजसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रपरतीनपदरिक्तहै।यहांकेअतिरिक्तस्वास्थ्यकेंद्रकमालपुर,कम्हरियाघाटवनरियांवपरतीनवर्षसेचिकित्सकहीनहींहै।यहअस्पतालफार्मासिस्टकेभरोसेहै।प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रनरियांवकोआयुष्मानयोजनासेभीअच्छादितकियागयाहै,लेकिनडॉक्टरनहोनेसेयहभीबेमानीसाबितहोरहाहै।कुछऐसेहीहालतआयुर्वेदिकचिकित्सकोंकीहै।

-नवीनस्वास्थ्यकेंद्रजमुनीपुरकेपरिसरमेंउगीहैंझाड़ियां

नवीनप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रजमुनीपुरपरिसरमेंझाड़ियांउगीहैं।साफ-सफाईभीकीसमुचितव्यवस्थानहींहै।इसीपरिसरमेंराजकीयहोमियोपैथिकचिकित्सालयभीहै,लेकिनयहांअक्सरवीरानीफैलीरहतीहै।इक्कादुक्कामरीजआतेभीहैंतोनिराशहोकरलौटजातेहैं।

-भियांवमेंहालातऔरभीखराब

दुर्भाग्यसेयदिआपकोकुत्तेनेकाटलियाहोतोआतसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रभियांवकेभरोसेकतईमतरहिए।अस्पतालकाचक्करलगानाभारीपड़सकताहै।टीवीकेइलाजकेलिएयदिपंजीकरणहुआहैतोकोईजरूरीनहींहैकिअगलेराउंडमेंआपकोदवामिलहीजाएगी।इसकीकोईगारंटीनहींहै।छहमाहपहलेसेखराबपड़ीएक्सरेमशीनकोठीकहीनहींकरायाजारहाहै।सातडॉक्टरोंकेसापेक्षमहजतीनकेभरोसेयहअस्पतालचलरहाहै।यहांसंसाधनोंकाअभावमरीजोंपरभारीपड़तीहै।सीएचसीकेसमीपरहनेवालेसेवानिवृत्तप्रधानाचार्यअवधबिहारीसिंहकहतेहैंकिग्रामीणक्षेत्रमेंस्थापितइसअस्पतालपरयदिजिम्मेदारोंकीनजरपड़जाएतोक्षेत्रवासियोंकीतमामदुश्वारियांदूरहोजाएं।

-सबसेअच्छीहोनीचाहिएअस्पतालमेंव्यवस्था

स्वास्थकीसमस्याकिसीजातिसेजुड़ानहींहै।यहहरआदमीकीसबसेअधिकप्राथमिकतामेंहै।इसलिएअस्पतालोंकीव्यवस्थासबसेअधिकहोनीचाहिए,लेकिनदुर्भाग्यहैकिइसकीसुधिलेनेवालाकोईनहींहै।कुछऐसेहीअंदाजमेंअपनीबातरखतेहुएदिलीपबतातेहैंकिअबधैर्यजवाबदेनेलगाहै।इसबारराजनीतिकदलोंसेअस्पतालोंकीबदहालीकाजवाबमांगाजाएगा।फूलचंदयादवकहतेहैंकिहमलोगोंकीसुधिकिसीकोनहींहै।ग्रामीणअस्पतालोंमेंतोमामूलीइलाजभीनहींहोताहै।राजेशकाकहनाहैकिनेतालोगवादाकरकेभूलजातेहैं,जबचुनावआताहैतबइन्हेंजनताकीसुधिवअपनावादायादआताहै।इसलिएजोभीवोटमांगनेआएउससेजवाबतोमांगनाहीचाहिए।रामबेलासकहतेहैंकिइसबारहमलोगवादानहींहकीकतकरनेकीठानेहैं।चिकित्सकनहींतोवाटमांगनेभीकोईनाआए।बादमेंसोच-विचारकरमतदानकरेंगेजरूरक्योंकियहहमाराअधिकारहै।हमइसीसेजवाबदेंगे।जगदंबासिंहकहतेहैंकिनेतावनकियावादा20वर्षसेदेखरहेहैं।इनकेवादावझांसामेंअबनहींपड़नाहै।अबतोसीधीबातहैकिहमेंजवाबचाहिए।राममिलनकहतेहैंकिजनताकोपरेशानीबहुतहोगईहै।निजीचिकित्सकलूटरहेहैंइलाजकेनामपरऔरसरकारीअस्पतालसिर्फदेखनेकेलिएहैं।