Category Hierarchy

रांची,जासं।भारतीयकिसानसंघनेकेंद्रसरकारसेदेशकेकिसानोंकोलागतकेआधारपरलाभकारीमूल्यदिएजानेकेलिएसख्तकानूनबनानेकीमांगकीहै।इससेसंबंधितमांगोंकोलेकरपिछलेमाह11अगस्तकोप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकोज्ञापनसौंपागयाथा,परंतुअबतककोईकार्यवाईनहींकीगई।इसलिएसंगठननेबुधवारआठसितंबरकोदेशकेसभीजिलामुख्यालयोंपरधरनाप्रदर्शनकरज्ञापनसौंपनेकानिर्णयलियाहै।उक्तजानकारीभारतीयकिसानसंघकेराष्ट्रीयमहामंत्रीबद्रीनारायणचौधरीनेदी।भारतीयकिसानसंघराष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघकाअनुषांगिकसंगठनहै।

उन्होंनेकहाकिदेशभरकेकिसानोंमेंआक्रोशएवंअशांतिकामुख्यकारणजोबनाहुआहैवहहै-किसानोंकोउनकीउपजकालागतआधारितलाभकारीमूल्यनहींमिलना।न्यूनतमसमर्थनमूल्यतयहोनेकेबावजूदमंडियोंमेंकिसानोंकीउपजउससेकममूल्यमेंबिकतीहै।कृषिउत्पादोंकेमूल्यकोहमेशानियंत्रितरखागया,जिससेस्वतंत्रबाजारव्यवस्थाविकसितनहींहोसकीऔरअबखेतीकरनेकेसामानभीमहंगेहोतेजारहेहैं,परंतुन्यूनतमसमर्थनमूल्यबहुतपीछेछूटगयाहै।

किसानोंकोसामानआपूर्तिकर्ता,उनकीउपजकाव्यापारकरनेवालेतथाउद्योगचलानेवालेसभीतोफलफूलरहेहैं,संपन्नहोरहेहैं,लेकिनस्वयंकिसानकर्जदारवऔरगरीबहोतेजारहेहैं।देशकेसभीकृषिविज्ञानी/संस्थानकेवलउत्पादनबढ़ानेमेंलगेहैं,अबसमयआगयाहैकिकिसानोंकीआयबढ़ानेऔरलागतघटानेपरभीप्राथमिकतासेकार्यकियाजाय।कहा,बाजारभावएवंन्यूनतमसमर्थनमूल्यमेंभीप्रतिक्विंटलसैकड़ोंरुपयेकाअंतरहोजाताहै।न्यूनतमसमर्थनमूल्यकाकेवलएक-दोप्रांतोंकोहीलाभमिलपाताहैऔरशेषदेशभरकेकिसानवंचितरहजातेहैं।ऐसेमेंकोईतोसमाधानजरूरीहोहीजाताहै।इसलिएसरकार

किसानोंकोन्यूनतमसमर्थनमूल्यकेबजायलागतकेआधारपरलाभकारीमूल्यदेनातयकरे।

घोषितमूल्यपरकिसानकीउपजकोबेचनासुनिश्चितहो।फिरचाहेवहमंडीमेंबेचे,मंडीकेबाहरयाफिरचाहेसरकारखरीदे,लेकिनघोषितमूल्यसेकमपरक्रय-विक्रयकोअपराधमाननाहोगा।यहसबकेवलऔरकेवलतबहीसंभवहै,जबइसबाबतकठोरकानूनबनेगा।ऐसेमेंलागतआधारितलाभकारीमूल्यदिएजानेकेलिएकठोरकानूनबनायाजाए।चौधरीनेकहाकिकेंद्रसरकारनेअभीतकउक्तमांगोंपरविचारनहींकिया।इसलिएविवशहोकरहमलोगोंनेधरनाकेमाध्यमसेसरकारकोफिरसेज्ञापनसौंपनेकानिर्णयलियाहै।इसकेबादभीमांगेनहींमानीगईतो10दिनोंकेबादसंगठनआगेकीरणनीतिपरविचारकरेगा।उन्होंनेकहाकिआशाहैकिकिसानकोखेतीछोड़करसड़कोंपरउतरनेकेलिएमजबूरनहींकियाजाएगा।