Category Hierarchy

संवादसूत्र,कर्णप्रयाग:जलसाथीपहलकार्यक्रमकेतहतजल-जंगलवजमीनकेसंरक्षणकोलेकरमंगलवारकोविकासखंडसभागारमेंजागरुकताबैठकआयोजितहुई।बैठकमेंतेजीसेबदलरहेवातावरणीयप्रभावोंपरचिंताजतातेहुएजैवविविधतासंरक्षणकेलिएसकारात्मकप्रयासकरनेकीबातकहीगई।जागरूकताबैठकमेंनदीतटोंपरहोरहेअवैधदोहनपरअंकुशलगानेकेसाथप्राकृतिकजलश्रोतोंकोपरंपरागततरीकोंसेसंरक्षितकरनेकीकार्ययोजनातैयारकरनेऔरप्रस्तावबनाकरसरकारकोभेजनेपरभीमंथनहुआ।

लोकजागृतिविकाससंस्था,एक्शनइंडियावपर्यावरणसंरक्षण-संव‌र्द्धनकेक्षेत्रमेंकार्यकररहीमैतीसंस्थाकेतत्वावधानमेंगोष्ठीआयोजितहुई।मुख्यवक्ताएक्शनइंडियाकीडॉ.व्रसन्धीजैनानेकहाहिमालयीक्षेत्रमेंबदलतापर्यावरणीयसंतुलनप्राकृतिकश्रोतोंपरविपरीतअसरडालरहाहै,सीमांतजनपदचमोलीकेकईनगरीयवग्रामीणक्षेत्रजहांपेयजलश्रोतोंकीभरमारथीइक्का-दुक्काहीशेषरहगएहैं।मैतीसंस्थासंस्थापककल्याणसिंहनेकहाकिदेशभरमेंपानीकासंकटसबकेसामनेहैंऐसेमेंपर्यावरणसंरक्षणकेलिएमिसालबनेहिमालयक्षेत्रमेंपानीकासंकटनहोइसकेलिएसमयपरजंगलोंकीआगकोरोक,जलसाथीमित्रबनातेहुएजलसंव‌र्द्धनकीदिशामेंकोशिशेंशुरूकरनीहोगी।लोकजागृतिसंस्थाकेसचिवजितेन्द्रकुमारनेजल-जंगलवजमीनपरपूंजीवादीव्यवस्थाकेहावीहोतेखतरोंसेआगाहकरतेहुएकहाकिसंपूर्णक्षेत्रप्राकृतिकसंसाधनोंसेभरपूरहैलेकिनअवैज्ञानिकतरीकोंसेहोरहादोहनआनेवालीपीढ़ीकोसंकटमेंडालसकताहै।इसमौकेपरउन्होंनेपर्यावरणकेलिएजानकीबाजीलगानेवालीस्व.गौरादेवीवगौरादेवीकेयोगदानकोयादकियाऔरबांजकेपौधरोपितकरनेकेलिएक्षेत्रवासियोंकोजागरूककिया।इसमौकेपरहिमालयसेवासंघकेमनोजपांडे,जितेन्द्रकुमार,महेन्द्रसिंह,नंदीदेवी,रमेश,लीलादेवीरामदयाल,खिलदेवसहितसिमली,डुंग्री,पुडियाणी,कंडारासेआईमहिलामंगलदलसदस्योंसहितराकेशचंद्र,कैलाशखंडूरीआदिजनप्रतिनिधिमौजूदथे।