Category Hierarchy

संतकबीरनगर:बच्चोंकोबेहतरढंगसेभाषा(हिदी)पढ़ानेकेलिएशुक्रवारकोजिलाशिक्षावप्रशिक्षणसंस्थान(डायट)सभागारमेंमास्टरट्रेनरकाप्रशिक्षणहुआ।फाउंडेशनलिटरेसीएवंन्यूमरेसीब्लाकस्तरीयकार्यशालामेंशिक्षकोंनेसरलतमढंगसेप्राथमिकस्तरपरमात्राकाज्ञानकरानेकीजानकारीहासिलकी।प्रशिक्षकोंनेबच्चोंकोखेल-खेलमेंभाषामेंनिपुणकरनेकाउपायजाना।शिक्षकोंनेमाडलकेआधारपरजानकारीलेतेहुएआपसमेंज्ञानसाझाकिया।

डायटकेप्रभारीप्राचार्यओंकारनाथमिश्रनेशिक्षकोंकाउत्साहबढ़ातेहुएकहाकिहिदीकोसमझकरविषयरोचकबनानेकेलिएप्रशिक्षणमेंबच्चोंकेपूर्वज्ञानकापहलेमूल्यांकनकरें।प्रभावीशिक्षणकेलिएशिक्षकोंकोपहलेपाठयोजनातैयारकरलेनीचाहिए।नोडलप्रशिक्षकसाधनापटेलनेकहाकिप्रारंभिककक्षाओंमेंभाषाऔरगणितकोलक्ष्यमेंरखागयाहै।इसीकेआधारपरप्रेरणालक्ष्यनिर्धारितकरकेकार्यचलरहाहै।प्रशिक्षकभास्करप्रतापत्रिपाठी,अशोककुमारचौहान,संजयकुमारद्विवेदीनेअभ्यासएवंप्रस्तुतीकरणकेमाध्यमसेपोस्टरएवंचार्टकेउपयोगकेबारेमेंभीजानकारीदी।इसमौकेपरअरविदकुमारपांडेय,अशोककुमारगुप्त,नवीनत्रिपाठी,आन्जनेयत्रिपाठी,अमरेशचौधरी,भवानीशंकरश्रीवास्तव,मनोजकुमारपांडेय,शरदेंदुप्रकाश,डा.हरिप्रकाशपाठक,अविनाशउपाध्यायसमेतअनेकलोगमौजूदरहे।बदहालहैएएनएमकेंद्र,मातृत्वसेवाओंकोझटका

संतकबीरनगर:राज्यसरकारद्वाराग्रामीणक्षेत्रोंमेंबेहतरस्वास्थ्यसुविधाबहालकरनेकेलिएस्वास्थ्यउपकेंद्रखोलेगएहैं।लेकिनउचितदेख-देखकेअभावमेंकईकेंद्रबदहालहोचुकेहैं।सांथाब्लाककेधर्मसिंहवामेंस्थितस्वास्थ्यउपकेंद्रएकदशकसेभूतबंगलाबनकररहगयाहै।भवनकाप्रयोगग्रामीणोंनेकूड़ाघरकेरूपमेंकियाजारहाहै।

करीबतीनदशकपहलेधर्मसिंहवामेंस्वास्थ्यउपकेंद्रकाभवनबनाथा।यहांनियमितरूपसेमौजूदरहकरस्वास्थ्यकर्मीजिम्मेदारियांनिभातेथे।भवनकीमरम्मतनहींहोनेसेजर्जरभवनमेंकर्मियोंकारहनाकठिनहोगयातोकेंद्रबंदहोगया।दशाहैकियहस्वास्थ्यकेंद्रखंडहरमेंतब्दीलहोचुकाहै।ग्रामीणरामचंद्रशुक्ल,बालमुकुंद,कैलाशनाथवर्मा,वीरेंद्रपांडेय,मुकेशगुप्ता,शत्रुघ्ननाथत्रिपाठी,बृजेशचंद्रत्रिपाठी,अजीजुल्लाहखान,सर्वेश्वरपांडेयनेबतायाकिउपस्वास्थ्यकेंद्रकीबदहालीसेक्षेत्रमेंस्वास्थ्यसेवाओंपरबुराप्रभावपड़ाहै।एसडीएमअजयकुमारत्रिपाठीनेबतायाकिव्यवस्थाबहालकरनेकेलिएसंबंधितविभागकोपत्रलिखकरनिर्देशदियाजाएगा।