Category Hierarchy

संवादसूत्र,शिवली:औनहांमेंमवेशियोंसेपरेशानकिसानोंनेउन्हेंपकड़करउच्चप्राथमिकविद्यालयमेंबंदकरदिया।लोगोंनेइन्हेंगोशालामेंभेजनेकीमांगकीहै।

इनदिनोंकिसानोंकेखेतोंमेंगेहूं,लाही,मटरवआलूकीफसलेंखड़ीहैंजिन्हेंबेसहारामवेशीनुकसानपहुंचारहेहैं।फसलोंकोबेसहारामवेशियोंसेबचानेकेलिएकिसानोंकोइनदिनोंसर्दीमेंभीरातभरखेतोंपरहीगुजारनीपड़रहीहै।इसकेबादभीमवेशीमौकालगतेहीझुंडबनाकरखेतोंमेंघुसकरफसलकोनष्टकरजातेहैं।मंगलवारकोऔनहांगांवमेंखेतोंमेंखड़ीफसलनष्टकररहे15सेअधिकबेसहारामवेशियोंकोदेखगांवकेकिसानयोगेशप्रतापसिह,राजूतिवारी,शिवममिश्रा,टिकू,रामअवतार,छोटे,जाकिर,भोला,शिवलाल,नरेशआदिआपाखोबैठेऔरमवेशियोंकोखदेड़करबस्तीमेंस्थितउच्चप्राथमिकविद्यालयलेजाकरउसमेंबंदकरदिया।किसानोंकाआरोपहैकिकईबारमैथातहसीलजाकरअन्नामवेशियोंसेनिजातदिलाएजानेकीफरियादकीजाचुकीहै,लेकिनजिम्मेदारअधिकारियोंनेकोईध्याननहींदिया।मैथाएसडीएमरमेशकुमारनेबतायाकिविद्यालयपरिसरमेंबंदकिएगएमवेशियोंकोगोशालाभिजवायाजाएगा।