Category Hierarchy

[जीएनवाजपेयी]।आयुष्मानभारतयोजनाकेसौदिनपूरेहोचुकेहैं।इसयोजनाकाउद्देश्यप्रत्येकगरीबपरिवारकोपांचलाखरुपयेकास्वास्थ्यबीमाकवरउपलब्धकरानाहै।इसयोजनासेआठलाखसेज्यादालोगलाभउठाचुकेहैं।इसयोजनापरअमलप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकीओरसेलालकिलेकीप्राचीरसेकिएगएएकऔरवादेकापूराहोनाहै।इसयोजनासेगरीबोंकेलाभान्वितहोनेकीखबरेंजिसतरहआरहीहैंउससेयहीसंकेतमिलताहैकियोजनासहीदिशामेंआगेबढ़रहीहै।सामाजिकसुरक्षाकाविषयविशेषकरवंचिततबकोंकेलिएऐसीसुविधाएकलंबेअर्सेसेचर्चाकाविषयरहीहैं।विभिन्नकालखंडोंमेंसत्ताकीकमानसंभालचुकींसरकारोंनेइसमकसदकेलिएजीवनबीमानिगम,पेंशनऔरहेल्थकेयरकेमोर्चेपरतमामयोजनाओंकीसौगातपेशकी।

मोदीसरकारनेइसमामलेमेंअलगहीरणनीतिअपनाई।उसनेइनसभीयोजनाओंकोजोड़नेयामामूलीफेरबदलकरनएरूप-स्वरूपमेंपेशकरनेकेबजायवंचितवर्गकेलिएप्रत्येकक्षेत्रमेंएकध्वजवाहकयोजनापरकामकिया।इनमेंस्वास्थ्य,आवास,बीमा,पेंशनऔरबैंकिंगकेमोर्चेपरऐसीसेवाओंकानामलियाजासकताहैजोविशेषरूपसेगरीबोंकोध्यानमेंरखकरहीबनाईगईहैं।इनमेंपूराजोरइसीबातपरहैकिएकमिशनकेतौरपरयोजनाओंकोक्रियान्वितकरउनकेलाभकोलक्षितआबादीतकपहुंचायाजाए।सरकारकीइसकवायदकोसामाजिकबेहतरीऔरआर्थिकलाभकेदोहरेनजरियेसेदेखनाहोगा।जहांइनमेंवंचितवर्गकोराहतदेनेकेसाथआर्थिकदुश्वारियोंसेउबारनेकीक्षमताहैवहींश्रमकीउत्पादकतामेंसुधारऔरआर्थिकवृद्धिकोधारदेनेकीकूवतभीहै।

बीमारीमेंएकतोइलाजकाअभावऔरऊपरसेआर्थिकबोझगरीबोंपरदोहरीचोटकरताहैजिससेश्रमकीउत्पादकतापरभारीदबावपड़ताहै।इसमामलेमेंदेखाजाएतोभारतकीउत्पादकताकईउभरतीहुईअर्थव्यवस्थाओंकेमुकाबलेकमतरहीहै।ऐसीयोजनाओंकेकारणआर्थिकवृद्धिकेसाथहीरोजगारसृजनकेमोर्चेपरनएअवसरोंकीसंभावनाएंबनेंगी।बीमारीसेलेकरजीवन-मरणकेमसलेइंसानीजिंदगीकेअहमहिस्सेहैं।बहुसंख्यकभारतीय दोकमियोंकेशिकारहैं।एकतोउपचारकेलिएउनकेपासवित्तीयसंसाधनोंकाअभावहै।दूसराअच्छीस्वास्थ्यसेवाओंकीकमीभीसालतीहै।ऐसेमेंकिसीगरीबपरिवारकेलिएबीमारीकेइलाजमेंसालानापांचलाखरुपयेतककेइलाजकीसुविधाएकबड़ीसौगातहै।

यहसंबंधितव्यक्तिकेपरिवारकोनकेवलआर्थिकवज्रपातसेबचाएगी,बल्किउसकेलिएमुसीबतमेंएकबड़ेसहारेकाकामकरेगी।इसस्थितिमेंस्वास्थ्यसेवाओंकेस्तरपरभारीमांगपैदाहोगी।एकाएकआठकरोड़परिवारोंकीओरसेस्वास्थ्यसेवाओंकीमांगकीजाएगी।इसमांगकोपूराकरनेकेलिएअधिकअस्पतालों,प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रों,डॉक्टरों,नर्सों,प्रशासनिककर्मचारियों,दवानिर्माताओंऔरदवावितरकोंआदिकीजरूरतपड़ेगी।यहकहाजासकताहैकिभारतमेंऐसीमांगहमेशारहीहै,लेकिनकरोड़ोंगरीबपरिवारोंकेलिएइनसेवाओंकेउपभोगकीक्षमताअबकहींजाकरविकसितकीजारहीहै।

हेल्थकेयरयानीस्वास्थ्यसेवाओंकाउद्योगबड़ेपैमानेपररोजगारकामाध्यमहै।इनमेंडॉक्टरोंसेलेकररक्तकेनमूनेलेनेवाले,घरेलूस्वास्थ्यसहायकऔरसाइकोथेरेपिस्टसेलेकरतमामतरहकीकड़ियांजुड़ीहोतीहैं।आमसमझकेअनुसारमानाजाताहैकिअस्पतालमेंएकबेडकेसाथ10स्वास्थ्यकर्मियोंकीआवश्यकताहोतीहै।देशभरमेंइसयोजनाकेविस्तारकेसाथहीअस्पतालोंकीजरूरतभीकईगुनाबढ़तीजाएगी।एकमोटेअनुमानकेअनुसारइसयोजनाकोसिरेचढ़ानेकेलिएऔसतन100बेडवाले20,000सेअधिकअस्पतालबनानेहोंगे।इसेअगर10सेगुणाकरेंतोइननएबननेवालोंअस्पतालोंसेकरीब20लाखनौकरियांसृजितहोंगी।दवाओंऔरअन्यस्वास्थ्यसेवाउत्पादोंकीभीभारीमांगपैदाहोगी।इससेव्यापकस्तरकेभौतिकएवंसामाजिकबुनियादीढांचेकाभीनिर्माणहोगा।

हेल्थकेयरएकसार्वजनिक-निजीउद्यमहै।यहांसरकारीवित्तीयसंसाधनोंसेचलनेवालेअस्पतालभीहैंतोनिजीक्षेत्रकेअस्पतालभीहैं।ऐसेमेंबेहतरयहहोगाकिअगले5-10वर्षोंमेंइसक्षेत्रमेंविभिन्नवस्तुओंएवंसेवाओंकेलिएउत्पन्नहोनेवालीमांगकासहीअनुमानलगायाजाएताकिउसीहिसाबसेइसमेंनिवेशकीराहआसानबनाईजासके।अस्पतालएवंस्वास्थ्यसेवासंस्थानोंकेअलावाइसकेमाध्यमसेदवाकंपनियों,फार्मेसियोंऔरपैथोलॉजीलैबइत्यादिमेंभीरोजगारकेतमामअवसरसृजितहोनेकीभरपूरसंभावनाएंहैं।अगरइसयोजनाकोवर्तमानस्वरूपमेंहीसहीतरीकेसेआगे बढ़ायाजाताहैतोअगलेपांचवर्षोंमेंइसकेमाध्यमसेपचासलाखसेकमनौकरियांसृजितनहींहोंगीजोकाफीबड़ाआंकड़ाहै।

एकऐसेदौरमेंजबरोजगारसृजनसबसेबड़ीचिंताकेरूपमेंउभररहाहैतबइसयोजनाकोआगेबढ़ानाबहुतउपयोगीहोगा।हालांकिइसकेलिएभारतसरकार,राज्यसरकारोंऔरनिजीक्षेत्रकोअपनेनिवेशकेगणितकोनएसिरेसेसाधनाहोगा।कोईभीयोजनाउपलब्धसंसाधनोंऔरमांगकोध्यानमेंरखकरहीबनानीहोगी।इसकेचारहिस्सोंपरविशेषरूपसेध्यानदेनाहोगा।एकतोहेल्थकेयरसुविधाएं,दूसरामानवसंसाधन,तीसरासुविधाओंकासंचालनजिसमेंउपचारकेबादकीस्थितिभीशामिलहैऔरचौथापहलूवित्तीयसंसाधनोंकाहै।इसयोजनामेंनागरिकों,स्वास्थ्यसेवाप्रदाताओं,दवानिर्माताओं,मानवसंसाधन,बीमाकंपनियोंऔरनिवेशकोंजैसेसभीअंशभागियोंकाभीख्यालरखाजानाचाहिए।साथहीसाथसार्वजनिक-निजीभागीदारीकोप्रोत्साहनदेनेकेलिएभीसमग्ररणनीतियांबनानीहोंगी।स्वास्थ्यसेवाओंकेलिएमांगहमेशासेरहीहै,लेकिनपैसोंकीकिल्लतसेउनकालाभउठानेकीक्षमताकाअभावरहाहै।यहयोजनाइसखाईकोपाटनेकेसाथहीहेल्थकेयरसेवाओंकोएकनयाक्षितिजदेनेकीक्षमतारखतीहै।

यहअनुमानलगानाआसानहैकिइतनीबड़ीआबादीऔरबढ़तीजीवनप्रत्याशाकेदमपरहेल्थकेयरमेंभारतकेशीर्षपांचउद्योगोंऔररोजगारप्रदाताओंमेंशामिलहोनेकीभरपूरसंभावनाएंहैं।यहांतककिअगरसरकारअपनेखजानेसेइसयोजनाकेलिएऔरअधिकआवंटनकरतीहैतोकईस्तरोंपरउसकेफायदेदेखनेकोमिलेंगे।इससेजहांलोगोंमेंआत्मविश्वासबढ़ेगावहींरोजगारकेअवसरोंमेंवृद्धिहोगीऔरअंतत:इसकाफायदाआर्थिक वृद्धिकेरूपमेंभीनजरआएगा।

(लेखकसेबीऔरएलआइसीकेपूर्व