Category Hierarchy

नईदिल्ली। एकसितंबरसेकक्षानौसे12तककेस्कूलखोलेजारहेहैं।अभिभावकोंकाकहनाहैकिबच्चोंकोस्कूलतोभेजनाचाहतेहैं,लेकिनउनकेस्वास्थ्यकोलेकरभीखासेसशंकितहैं।सरकारकास्कूलखोलनेकाफैसलाकितनाउचितहै,क्याचुनौतियांआएंगीऔरस्कूलोंमेंशारीरिकदूरीकापालनकैसेकरायाजासकेगा।इनतमाममुद्दोंपरआलइंडियापैरेंट्सएसोसिएशन(AIPA)केअध्यक्षअशोकअग्रवालसेरीतिकामिश्रानेबातचीतकीहै।पेशहैंबातचीतकेप्रमुखअंश:

कोरोनाकीतीसरीलहरकीआशंकाकेबीचस्कूलखोलेजानेकेनिर्णयकोआपकितनाउचितमानतेहैं?

-स्कूलखोलनाजरूरीथा।स्कूलखोलनेमेंदेरीसेपहलेहीबच्चोंकीपढ़ाईकोबहुतनुकसानहोचुकाहै।आजस्कूलनखोलेजानेकेनुकसानकोलेकरबहुतसेरिसर्चहमारेपासमौजूदहैं।नजानेकितनेबच्चेमानसिकपरेशानियोंकोझेलरहेहैं।बहुतसेबच्चेतोस्कूलीव्यवस्थासेहीबाहरहोगएहैंऔरअपनेगृहनगरभीलौटचुकेहैं।इन्हेंफिरसेस्कूलीव्यवस्थामेंलानामुश्किलहोगा।

महामारीसेछात्रोंकीसुरक्षाकोलेकरकिसतरहकीचुनौतियांहैं,औरअभिभावकोंकीचिंताकोआपकैसेदेखतेहैं?

-देखिए,अभिभावकोंकीचिंताकेवलबच्चोंकेस्वास्थ्यकोलेकरहै,लेकिनअभिभावकोंकोसमझनाहोगाकियेचिंतासरकारकोभीहै।स्कूलखोलेजानेकोलेकरमानकसंचालनप्रकिया(एसओपी)बनाईगईहै,इसलिएस्कूलोंकेसमक्षभीकोईबड़ीचुनौतीतोनहींहीआएगी।आजहमारेपाससबसेबड़ाउदाहरणचीनकाहै।चीननेतोअपनेस्कूलोंकोकभीबंदहीनहींकिया।उन्होंनेअपनेछात्रोंकोइसमहामारीसेसुरक्षादी।

स्कूलमेंतोशारीरिकदूरीकापालनकरायाजासकताहै,लेकिनस्कूलवाहनोंमेंयेकैसेसंभवहोपाएगा?

-हरबच्चास्कूलकेवाहनसेस्कूलनहींजाताहै।दूसरा,ज्यादातरस्कूलअभीअपनेस्कूलीवाहनोंकोनहींहीशुरूकरेंगे।ऐसेमेंफिलहालबच्चेअपनेसाधनयासार्वजनिकवाहनोंकाइस्तेमालकरेंगे।अबबातशारीरिकदूरीकीआतीहैतोयेबातसमझनीचाहिएकिआपसबजगहचाहकरभीदो,चारयाछहफीटकीसार्वजनिकदूरीबनाकरनहींरहसकते।हमारीसार्वजनिकवाहनोंकीव्यवस्थाहीऐसीनहींहै।आपदेखिएबसऔरमेट्रोमेंभीसभीसीटोंपरयात्रीबैठसकतेहैं।तोआपकहांतकसार्वजनिकदूरीबनाएरखेंगे।वैसेभीस्कूलकक्षानौसे12वींतककेबच्चोंकेलिएफिलहालखोलेजारहेहैं।इसउम्रतकआकरबच्चेसमझदारहोजातेहैं।आपउन्हेंबताएंकिवहजबभीस्कूलयासार्वजनिकवाहनोंमेंबैठेंतोमास्कजरूरलगाएरखेंऔरहाथोंकोसमय-समयपरसैनिटाइजकरतेरहें।

शिक्षानिदेशालयद्वारातैयारकीगईएसओपीकोआपकितनाप्रभावीमानतेहैं?

-शिक्षानिदेशालयद्वाराजारीकीगईएसओपीकोआवश्यकतौरपरस्कूलोंकोअपनानाचाहिए।इसेबनानेकेलिएएककमेटीबनीथी।कमेटीमेंडाक्टर,शिक्षानिदेशकऔरअन्यलोगभीशामिलथे।सभीनेएसओपीतैयारकरनेमेंजोसुझावदिएहैं,वहबच्चोंकेस्वास्थ्यकोध्यानमेंरखकरहीदिएगएहैं।

लंबेसमयसेस्कूलबंदहोनेकेचलतेछात्रोंकेमानसिकस्वास्थ्यपरभीगहराअसरपड़ाहै।स्कूलोंकोछात्रोंकेमानसिकस्वास्थ्यकेसाथशारीरिकस्वास्थ्यकोभीदेखनाहै।इसदोहरीचुनौतीकोआपकैसैदेखतेहैं?

-सवालयेहैकिमानसिकस्वास्थ्यबेहतरकरनेकीचुनौतीसेनिपटनेकेलिएजमीनीस्तरपरहमारेपासकोईव्यवस्थानहींहै।शिक्षकोंकोपतानहींहैकिपरामर्शकैसेदेतेहैं।दूसरा,जोअपनेआपकोपरामर्शविशेषज्ञबतातेहैं,उनकीसंख्याबहुतहीकमहै।वैसे,बच्चेजबस्कूलमेंअपनेदोस्तोंकेसाथरहेंगे,बातचीतकरेंगेतोवहउनकीसबसेबेहतरकाउंसलिंगहोगी।इससेउनकामानसिकस्वास्थ्यबेहतरहोगा।