असंध विधानसभा सीट के 48 साल के राजनीतिक इतिहास में कांग्रेस का दूसरी बार विधायक चुना गया। इससे पहले 2005 में कांग्रेस प्रत्याशी राजरानी पूनम ने इनेलो प्रत्याशी कृष्णलाल पंवार को 12545 वोटों से हराकर जीत दर्ज की थी। अब 14 साल के वनवास के बाद कांग्रेस ने असंध विधानसभा सीट पर फिर से वापसी की है। कांग्रेस प्रत्याशी शमशेर सिंह गोगी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी नरेंद्र राणा को 1703 वोटों से हराकर जीत का परचम लहराया है। असंध विधानसभा के राजनीतिक इतिहास की बात करें तो कांग्रेस ने ही यहां पर इनेलो के गढ़ को तोड़ा था। 2014 के चुनाव में भाजपा इस सीट पर कब्जा करने में कामयाब तो हो गई थी, लेकिन इस चुनाव में कांग्रेस ने फिर से वापसी कर ली है। 2014 के चुनाव में भाजपा से बख्शीश सिंह विर्क ने बसपा प्रत्याशी मराठा वीरेंद्र वर्मा को 4608 वोटों से हराया था। वर्ष 1977 में वजूद में आई इस सीट पर इनेलो के कृष्ण लाल पंवार ने यहां जीत की हैट्रिक जमाई थी। वे 1991, 1996 और 2000 में यहां से विधायक बने। 1967 से लेकर 2014 तक असंध विधानसभा की दलगत स्थिति क्या रही

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए डा. वीरेश भूषण ने

जागरणसंवाददाता,सिरसा:कोरोनारूपीनईबीमारीसेकैसेनिपटाजाए,कैसेसंक्रमितोंकापताचले,कैसेउनकेकांट्रेक्टखोजेजाएं।कंटेनमेंटजोनकहां

प्रशिक्षित किए गए चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी

सिद्धार्थनगर:सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रस्थितमीटिगहालमेंएकदिवसीयप्रशिक्षणकाआयोजनकियागया।जिसमेंमेडिकल,पैरामेडिकल,एम्बुलेंस10

मन की बात में पीएम मोदी ने फिर समझाया, नए कृष

नईदिल्‍लीप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीआज'मनकीबात'का69वांएपिसोडलेकरआए।उन्‍होंनेकोरोनावायरसमहामारीसेजीवनमेंआएबदलावोंकाजिक्रकरतेह

बिलासपुर अस्पताल में आशा कार्यकत्र्ताओं को दि

संवादसहयोगी,बिलासपुर:जिलाकीसभीआशाकार्यकत्र्ताओंकोजिलाअस्पतालबिलासपुरमेंप्रारंभिकप्रशिक्षणदियागया।कार्यकत्र्ताओंकेलिएआठदि